Home » बिज़नेस » Modi government may increase limit of income tax excemption upto Rs. 3 Lacs in Union Budget 2017
 

आम बजट में आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर की जा सकती है 3 लाख

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2017, 21:22 IST
(फाइल फोटो)

बीते साल के अंत में लिए गए नोटबंदी के फैसले के बाद लगता है कि मोदी सरकार अब आम बजट 2017 में देशवासियों को आयकर समेत अन्य करों में रियायतें दे सकती है. उम्मीद जताई जा रही है कि नौकरीपेशा तबके को बड़ी राहत देते हुए सरकार टैक्स स्लैब में भी बढ़ोतरी कर सकती है.

भारतीय स्टेट बैंक द्वारा जारी एक रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक आयकर छूट सीमा को 2.50 लाख रुपये से बढ़ाकर 3 लाख रुपये किया जा सकता है. वहीं, सरकार बैंक में 3 साल के फिक्सड डिपॉज़िट पर भी कर छूट देने की घोषणा कर सकती है.

होम लोन की ब्याज पर मिलने वाली कर रियायत सीमा को 2 लाख से बढ़कर 3 लाख रुपये भी किया जा सकता है. स्टेट बैंक की रिसर्च रिपोर्ट 'इकोरैप' के मुताबिक सरकार आम बजट 2017 में आयकर छूट सीमा भी बढ़ा सकती है. आयकर धारा 80सी के तहत विभिन्न निवेश और बचत पर मिलने वाली छूट सीमा को बढ़ाया जा सकता है.

मुख्य आर्थिक सलाहकार और आर्थिक शोध विभाग महाप्रबंधक सौम्या कांती घोष द्वारा तैयार एसबीआई की इस रिपोर्ट में कहा गया है, 'इस तरह की छूट देने से सरकारी खजाने पर 35,300 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा.'

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस वित्त वर्ष में पिछले वर्ष की तुलना में अर्थव्यवस्था के लिए बड़ी चुनौतियां हैं.

इससे पहले हालांकि मोदी सरकार की तरफ से अगले बजट में आयकर छूट की सीमा को मौजूदा 2.50 लाख रुपये से बढ़ाकर 4 लाख रुपये किए जाने की खबरों का सरकार ने खंडन कर दिया था.

First published: 23 January 2017, 21:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी