Home » बिज़नेस » Modi government new e commerce policy: no cashback and exclusive deal and discount on Amazon FlipKart
 

ऑनलाइन शॉपिंग पर डिस्काउंट और कैशबैक ख़त्म, Amazon, FlipKart पर भी नहीं मिलेगा ऑफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2018, 14:58 IST

देश में ऑनलाइन शॉपिंग की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इसकी सबसे बड़ी वजह है कि ग्राहकों को कैशबैक और बंपर डिस्काउंट जैसे आकर्षक ऑफर मिलते हैं. लेकिन अब ऑनलाइन शॉपिंग का तौर-तरीका और कारोबार बदलने जा रहा है. केंद्र सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए नए नियम बनाए हैं. ये नियम 01 फरवरी 2019 से लागू हो जाएंगे जिसके बाद एक्सक्लूसिव डील, कैशबैक, भारी डिस्काउंट जैसी लुभावनी चीजें खत्म हो जाएंगी.

 

ऐसे ऑफर हुए बंद

सरकार ने इसलिए लिया ये फैसला

सरकार के इस फैसले से अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, जबॉन्ग, स्नैपडील जैसी कंपनियों को बड़ा झटका लगा है और आने वाले दिनों में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ सकता है. जबकि घरेलू और छोटे कारोबारियों के लिए ये बड़ी रहत की खबर है. आम चुनाव को देखते हुए सरकार ने अपनी पॉलिसी में बदलाव किया है जिससे हद तक घरेलू व्यवसायियों का आक्रोश कम होगा. इन बड़ी-बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियां घरेलू मार्केट और ग्राहकों पर अपने लुभावने ऑफर से धीरे-धीरे कब्ज़ा करती जा रही थी जिससे घरेलु कारोबारियों को काफी नुकसान हो रहा था. सरकार ने ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की नीति बदल दी है,

कैशबैक और एक्सक्लूसिव सेल पर रोक

कैशबैक और एक्सक्लूसिव सेल पर रोक से ई-कॉमर्स सेक्टर की कंपनियों को अपने बिजनस मॉडल में बदलाव करना होगा. सरकार के नए नियम के मुताबिक, कोई ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म किसी सप्लायर को खास रियायत नहीं दे सकता है. इस संशोधन के बाद कैशबैक, एक्सक्लूसिव सेल या किसी पोर्टल पर एक ब्रैंड के लॉन्च, ऐमजॉन प्राइम और फ्लिपकार्ट एश्योर्ड जैसी डील्स या किसी तरह की खास सेवा देने में दिक्कत हो सकती है.

पॉलिसी में एक नया नियम जोड़ा गया है, जिसके मुताबिक ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म से जुड़ी कोई भी यूनिट सामान की बिक्री नहीं कर सकती. सामान बिक्री इसके साथ किसी ई-कॉमर्स साइट पर कोई एक वेंडर कितना सामान बेच सकता है, इसकी भी सीमा तय की गई है.

First published: 27 December 2018, 14:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी