Home » बिज़नेस » modi government reduce interest rate of epfo
 

होली से पहले 6 करोड़ लोगों को सरकार ने दिया बड़ा झटका, Pfपर घटी ब्याज दर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 March 2020, 13:11 IST

सरकार ने ईपीएफओ (epfo) के करीब छह करोड़ अंशधारकों के लिए एक बड़ा झटका दिया है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन अपने सदस्यों को उनकी भविष्य निधि पर 8.65 फीसदी के बजाय अब 8.5 प्रतशित ही ब्याज देगा. वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ब्याज दरों में 0.15 फीसगी कटौती की गई है. पीएफ पर ब्याज दर घटाई जाने की जानकारी श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने दी. 

दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के शीर्ष निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड की गुरुवार को बैठक हुई. इस बैठक में चालू वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पीएफ पर ब्याज दर को लेकर फैसला किया गया. बताते चलें कि क्रेंद्रीय न्यासी बोर्ड की पीएफ पर ब्याज दर को लेकर फैसला लेता है और इस फैसले को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होती है.


देखें किस साल कितने थी ब्याज दर-

देश में ईपीएफओ की पीएफ योजनाओं में करीब 6 करोड़ कर्मचारी जुड़े हुए हैं. जिसकी वजय से सरकार को भारी भरकम ब्याजदर की रकम ईपीएफ अंशधारकों को देनी होती है. वहीं सरकार कुछ वक्त से रेवेन्यू से जूझ रही है. दरअसल टैक्स कलेक्शन और विनिवेश दोनों में ही सरकार अपनी आय का लक्ष्य पूरा नहीं कर पा रही है. ऐसे में सरकार की ओर से यह निर्णय लेना पड़ा. 

कोरोना वायरस: भारत में पीड़ितों की संख्या हुई 30, चीन में अबतक 3,042 की मौत

First published: 6 March 2020, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी