Home » बिज़नेस » Modi government will organize loan fairs in 400 districts, such loans will be distributed
 

मोदी सरकार 400 जिलों में लगाएगी लोन मेले, ऐसे बांटें जायेंगे लोन

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2019, 11:19 IST

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSB) त्यौहारी सीजन से पहले मांग को बढ़ावा देने के लिए देश के 400 जिलों में लोन वितरित करने के लिए कर्जदारों के साथ सार्वजनिक बैठकें आयोजित करेंगे. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को घोषणा की. उन्होंने कहा कि इसमें बैंक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) से भी मदद ली जाएँगी.  NDA सरकार इस मामले में अपने पूर्ववर्ती UPA सरकार के नक्शेकदम पर चलेगी, जिसने सार्वजनिक बैठकों के माध्यम से लोगों को ऋण देने के लिए ऋण मेले की अवधारणा पेश की थी.

सरकार ने PSB को अगले साल 31 मार्च तक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) की नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA) की स्ट्रेस्ड एसेट्स घोषित नहीं करने के लिए कहा है. RBI का कहना है कि प्रणाली में पर्याप्त लिक्विडिटी है लेकिन हम सुनते रहते हैं कि यह जमीनी स्तर पर नहीं पहुंच रही है. सीतारमण ने कहा कि इससे यह सुनिश्चित होगा कि ऋण पारदर्शी रूप से लोगों तक पहुंचेंगे और उन्हें नुकसान नहीं होगा.


इस तरह की सार्वजनिक बैठकें दो चरणों में होंगी 24-29 सितंबर को 200 जिलों में और 10-15 अक्टूबर क 200 जिलों में समारोह आयोजित किये जायेंगे. बैंकों से कहा गया है कि वे सभी प्रकार के ऋणों का विस्तार करें, जिनमें आवास और वाहन शामिल हैं. वित्त मंत्री ने कहा वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर लोन मेले के प्रभारी होंगे और केंद्रीय मंत्री और सांसद ऐसी बैठकों का हिस्सा होंगे.

मुंबई में गैस लीक से मची हड़कंप, बीएमसी ने पूरे शहर में शुरू की जांच

First published: 20 September 2019, 11:10 IST
 
अगली कहानी