Home » बिज़नेस » More joblessness, ILO sees India's unemployment rate rising to 3.5% in 2018
 

2018 में भारत में और अधिक बढ़ेगी बेरोजगारी- अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 14:49 IST

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) ने अपनी नवीनतम रिपोर्ट में कहा है कि 2018 में भारत में 3.5 प्रतिशत की बेरोजगारी रहने का अनुमान है. जबकि पिछले साल यह  3.4 प्रतिशत थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि 2018 और 2019 में देश में बेरोजगारी की दर 3.5 प्रतिशत होगी. 2017 की अपनी रिपोर्ट में आईएलओ ने भारत में बेरोजगारी दर 2017 और 2018 में 3.4 प्रतिशत पर पेश की थी.

आईएलओ ने कहा कि वैश्विक स्तर पर बेरोजगारी की दर में तीन साल में पहली बार गिरावट आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में देश में बेरोजगारों की संख्या 18.6 मिलियन और 201 9 में 18.9 मिलियन हो जाएगी. यह आंकड़ा 2017 में 18.3 मिलियन था.

पिछले साल की रिपोर्ट में आईएलओ ने अनुमान लगाया था कि देश में बेरोजगारों की संख्या 2018 में 18 मिलियन रहेगा और 2017 के लिए यह 17.8 मिलियन था. 2017 में भारत में बेरोजगार व्यक्तियों की संख्या आईएलओ के पिछले साल के अनुमानों से 0.5 मिलियन अधिक थी.

कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि देश में बेरोजगारी को लेकर झूठ फैलाया जा रहा है. 

आईएलओ ने इसके विपरीत 2017 में वैश्विक स्तर पर बेरोजगारी में 5.6% और 2018 और 2019 में 5.5% की गिरावट का अनुमान लगाया. आईएलओ के नए अनुमानों के मुताबिक, बेहतर डेटा सेटों और तरीकों के आधार पर वैश्विक बेरोजगारी की दर 2018 में 5.5% (2017 में 5.6% से) की गिरावट आने की उम्मीद है. 

आईएलओ के अनुमानों के अनुसार, भारत में बेरोजगारी दर 2012 में 3.6 प्रतिशत से घटकर 2014 में 3.4 प्रतिशत रह गई. हालांकि, 2015 में यह 3.5 प्रतिशत तक पहुंच गई और तब से बेरोजगारी की दर अपरिवर्तित रही है.

First published: 23 January 2018, 14:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी