Home » बिज़नेस » Moving abroad with millions of crores will not be easy, the center has released a new guideline
 

करोड़ों का लोन लेकर विदेश भागना अब नहीं होगा आसान, केंद्र ने जारी की नई गाइडलाइन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 March 2018, 16:17 IST

बैंकों से करोड़ों का लोन लेकर विदेश भागने की घटनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार ने शुक्रवार को बैंकों के लिए एक नई गाइडलाइन जारी की है. सरकार का कहना है कि 50 करोड़ से ज्यादा लोन लेने वालों को अब अपने पासपोर्ट की डिटेल बैंक में होगी. इसके पीछे सरकार का मकसद है कि कोई फ्रॉड सामने आने पर बैंक वक्त रहते संबंधित अथॉरिटी को सूचना दे पाएं.

फाइनेंस मिनिस्ट्री सेक्रेटरी राजीव कुमार ने ट्वीट कर बताया कि ''बैंकिंग को साफ-सुथरा और जिम्मेदार बनाने के लिए अगला कदम. 50 करोड़ से ज्यादा के लोन पर अब कर्जदारों को पासपोर्ट डिटेल देना जरूरी होगा. इससे फ्रॉड केस में तत्काल कार्रवाई होगी.''

 

सरकार ने जो नई गाइडलाइन जारी की है उसके मुताबिक बैंकों के लिए यह जरूरी है कि वो 50 करोड़ से ज्यादा के कर्जधारकों से अगले 45 दिन में उनके पासपोर्ट की पूरी जानकारी जमा करा लें. वर्तमान में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं जिससे बैंक कर्जदारों से उनके पासपोर्ट की जानकारी ली जा सके.

अक्सर लोन नहीं चुकाने या इसमें गड़बड़ी के खुलासे के बाद वो फायदा उठाकर आसानी से देश छोड़कर भाग जाते हैं. केंद्रीय कैबिनेट से फ्यूजिटिव इकनॉमिक ऑफेंडर्स बिल को हरी झंडी मिल चुकी है.

ये भी पढ़ें- यूपी के आजमगढ़ में अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी गई, पीएम मोदी और राजनाथ की नाराजगी बेअसर

First published: 10 March 2018, 16:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी