Home » बिज़नेस » nandan nilekani may be returns in India’s second largest IT company infosys after Vishal Sikka resigns.
 

Infosys की कमान दोबारा संभाल सकते हैं ये दिग्गज

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 August 2017, 12:40 IST

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नंदन नीलेकणि को एक बार फिर से भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस की कमान मिल सकती है. इसका ऐलान अगले 48 घंटे के अंदर हो सकता है. हालांकि इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. नीलेकणि इस कंपनी के सह-संस्थापकों में से एक है.

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह इन्फोसिस के पहले गैर-संस्थापक सीईओ बने विशाल सिक्का ने अपने पद से अचानक इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद कपनी का शेयर 15 प्रतिशत टूट गया था और उसके बाजार पूंजीकरण में 34,000 करोड़ रुपये की कमी आई थी.

 

इंफोसिस के संस्थागत निवेशकों का प्रतिनिधत्व करने वाले करीब 12 कोष प्रबंधकों ने कंपनी के सह संस्थापक एवं पूर्व मुख्य कार्यकारी नंदन नीलेकणि को इन्फोसिस के निदेशक मंडल में वापस लाने का सुझाव दिया है. कोष प्रबंधकों का कहना है कि इससे अंशधारकों का भरोसा फिर कायम किया जा सकेगा और कंपनी के संकट को हल किया जा सकेगा. 

इससे पहले नीलेकणि मार्च, 2002 से अप्रैल, 2007 तक कंपनी के सीईओ रहे थे. इसके बाद वह भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) प्रमुख के पद पर रहे. नीलेकणि के दौर में इंफोसिस की रेवेन्यू ग्रोथ 42 फीसदी और मार्जिन में 28 फीसदी की सालाना ग्रोथ देखने को मिली थी.

सूत्रों के मुताबिक, कंपनी के 12 कोष प्रबंधकों ने एक संयुक्त पत्र में कहा है कि हालिया घटनाक्रम काफी चिंता का विषय है. सूत्रों ने बताया कि यह पत्र अन्य लोगों के अलावा इन्फोसिस के चेयरमैन को भी लिखा गया है. 

First published: 24 August 2017, 12:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी