Home » बिज़नेस » Narendra Modi urges global oil firms to ease payment terms to help rupee recover
 

विदेशी तेल कंपनियों से पीएम मोदी ने मांगी ये मदद, कहा- रुपये को संभलने दीजिये

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 October 2018, 20:28 IST
(Narendra Modi urges global oil firms, Photo- IANS)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को विदेशी तेल कंपनियों से रुपये को अस्थायी राहत प्रदान करने के लिए अपनी भुगतान शर्तों की समीक्षा करने का आग्रह किया. सोमवार को नई दिल्ली में तेल और गैस क्षेत्र के विशेषज्ञों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक पीएम मोदी ने बैठक की थी. सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के मंत्रियों के साथ-साथ विश्व बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी और अन्य कंपनियों ने बैठक में भाग लिया. केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और धर्मेंद्र प्रधान, एनआईटीआई अयोध के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में उपस्थित थे.

इस क्षेत्र में भारत की महत्वपूर्ण स्थिति को उजागर करते हुए मोदी ने कहा कि तेल की कीमतें बढ़ी हैं क्योंकि बाजार उत्पादक संचालित है और मात्रा और कीमत दोनों तेल उत्पादक देशों द्वारा निर्धारित की जाती हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय के एक विज्ञप्ति के मुताबिक उन्होंने अन्य क्षेत्रों में सहयोग के साथ तेल बाजार में उत्पादकों और उपभोक्ताओं के बीच साझेदारी की मांग की है.

 

मोदी ने कहा कि तेल उपभोग करने वाले देशों को कई आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, जिनमें गंभीर संसाधनों की कमी शामिल है. उन्होंने कहा, "इस अंतर को कम करने के लिए तेल उत्पादक देशों का सहयोग बहुत महत्वपूर्ण होगा."

इससे पहले PM मोदी की पहली बैठक 5 जनवरी, 2016 को हुई थी. उस बैठक में प्राकृतिक गैस कीमतों में सुधार के सुझाव दिए गए थे. इस बैठक के एक साल से ज्यादा समय बाद सरकार ने गहरे समुद्र जैसे कठिन क्षेत्रों के लिए प्राकृतिक गैस के लिए ऊंचे मूल्य की अनुमति दी थी.

वहीं, अक्टूबर 2017 में इसके लिए दूसरी बैठक की गई थी. तब सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों ओएनजीसी और ऑइल इंडिया के उत्पादक तेल और गैस क्षेत्रों में विदेशी और निजी कंपनियों को इक्विटी देने का सुझाव दिया गया था, लेकिन ओएनजीसी के कड़े विरोध के बाद इस योजना को आगे नहीं बढ़ाया जा सका.

First published: 15 October 2018, 20:27 IST
 
अगली कहानी