Home » बिज़नेस » New investments in India declined to 14-year low in October-December: Report
 

रिपोर्ट में खुलासा: भारत में नए निवेश का स्तर 14 साल के सबसे निचले स्तर पर आया

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 January 2019, 14:50 IST

भारत में नया निवेश अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 14 साल के अपने सबसे निचले स्तर पर आ गया है. एक रिपोर्ट
के अनुसार सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में कंपनियों ने तिमाही के दौरान 1 लाख करोड़ रुपये की नई परियोजनाओं की घोषणा की, जो पिछली तिमाही की तुलना में 53% फीसदी कम है. यह आंकड़ा पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में 55 फीसदी कम है, और जनवरी 2017-मार्च 2017 में केवल 5.1 लाख करोड़ रुपये के निवेश का पांचवा हिस्सा है.

2018 की पहली तिमाही में यह निवेश लगभग 4 लाख करोड़ रुपये था. रिपोर्ट के अनुसार निजी परियोजनाओं में निवेश पिछली तिमाही से 62 कम हो गया, जबकि सरकारी परियोजनाओं में 37 गिर गया. 50,604 करोड़ रुपये की सरकारी परियोजनाओं में निवेश दिसंबर 2004 के बाद सबसे कम था.

 

निर्माण को छोड़कर सभी प्रमुख क्षेत्रों के निवेश में अक्टूबर-दिसंबर में गिरावट दर्ज की गई है. रिपोर्ट के अनुसार "बैड लोन की निरंतरता चुनावों के आगे बढ़ती नीतिगत अनिश्चितता और ठप पड़ी परियोजनाओं की पाइप लाइन को बंद करने में बहुत अधिक प्रगति की कमी प्रतीत होती है."

सेंटर फ़ॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के प्रबंध निदेशक महेश व्यास ने एक टीवी चैनल को बताया कि नए निवेशों में तेज गिरावट नहीं थी बल्कि एक स्थिर गिरावट का एक हिस्सा थी. पिछले साढ़े तीन साल में नई परियोजनाओं के साथ-साथ पुरानी परियोजनाओं के पुनरुद्धार में भी अर्थव्यवस्था में गिरावट देखी जा रही है और परियोजनाओं के रुकने की दर अधिक है.

ये भी पढ़ें : जॉनसन एंड जॉनसन को भारत में बड़ा झटका, कमाई में आयी इतनी बड़ी गिरावट

First published: 3 January 2019, 14:50 IST
 
अगली कहानी