Home » बिज़नेस » New world record:Ferrari 250 GTO sells for Whopping Rs 455 Crore, Becomes World Most Expensive Car
 

455 करोड़ की रेकॉर्डतोड़ कीमत में क्यों बिकी फरारी की ये कार, जानकर हो जाएंगे हैरान

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2018, 14:36 IST

फरारी को हमेशा लग्जरी और तेज रफ्तार वाली कार बनाने के लिए जाना जाता है. फरारी दुनियाभर में तेज रफ्तार और बेहतरीन कारें बनाने के लिए मशहूर है. इस कंपनी की कारों की कीमत बहुत ज्यादा होती है. लेकिन इस बार फरारी की साल 1963 में बनी 250 GTO कार ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. ये कार 455 करोड़ रुपये (70 मिलियन डॉलर) में बिकी है.

इस कार को अमेरिका की फ्लोर मैट और एक्सेसरी बनाने वाली कंपनी वैदरटैक के सीईओ डेविड मैक्नील ने खरीदा है. डेविड मैक्नील फरारी कलेक्टर के नाम से अमेरिका में मशहूर हैं. बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है, जब किसी क्लासिक विंटेज कार के लिए इतनी बड़ी रकम चुकाई गई है, इससे पहले भी इसकी कीमत 35 मिलियन डॉलर लगाई गई थी. बाद में इसको एक निजी ग्राहक ने 50 मिलियन डॉलर में खरीदा था.

क्या है खास ?

फरारी 50 GTO कार में सबसे खास इसका चेसिस नंबर है. इसका चेसिस नंबर काफी दिलचस्प है. कार के चेसिस नंबर के चलते ही इसकी कीमत इतनी ज्यादा रही. इस कार का चेसिस नंबर 4153 GT है जिसे फरारी GTO टूर डे फ्रांस के नाम से भी जाना जाता है. यही वजह है कि इसकी कीमत को इस कदर बढ़ा दिया.

ये भी पढ़ें- भारत की ये दो एयरलाइन कंपनियां करवा रही है मात्र 1299 रुपये में हवाई सफर

इसके साथ ही इस कार का कलर भी शानदार है. इसका कार कलर फैक्ट्री सिल्वर पेन्ट है. इस कार की रेसिंग हिस्ट्री भी काफी दमदार रही है. 1964 में इस कार से टूर डे फ्रांस रेस जीती गई थी. 1963 में ले मेन्स में यह कार चौथे नंबर पर आई थी और इसे 1965 में अफ्रीका की एंगलोन ग्रैंड प्री में भी चलाया गया था.

लोगों की है पहली पसंद

फरारी 250 GTO कंपनी की सबसे शानदार कारों में से एक मानी जाती है. लोगों को ये कार काफी पंसद है. लोगों का मानना है कि कंपनी बनाई गई कारों में से ये कार सबसे शानदार है. कंपनी ने इस कार में 3.0-लीटर का वी12 इंजन लगाया है जो 200 BHP पावर जनरेट करने की क्षमता रखता है. 1963 में जब इस कार को लॉन्च किया गया था तब इसकी कीमत18,000 डॉलर रखी गई थी.

First published: 6 June 2018, 14:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी