Home » बिज़नेस » Nirav Modi is openly living in London and started new diamond business
 

लंदन के आलाशीन फ्लैट में सुकून की जिंदगी बिता रहा है भगोड़ा नीरव मोदी, शुरु किया नया बिजनेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2019, 9:42 IST

पंजाब नेशनल बैंक से 13,000 करोड़ रुपये का कर्ज लेकर फरार हुआ नीरव मोदी लंदन में आलीशानी जिंदगी गुजार रहा है. ब्रिटेन के अखबार यूके डेली टेलिग्राफ की रिपोर्ट में बताया गया है कि भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी लंदन के वेस्ट एंड में सुकून की जिंदगी बिता रहा है. यही नहीं उसने लंदन में हीरे का एक नया व्यापार भी शुरु किया है.

यूके डेली टेलिग्राफ ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें उसने भगोड़े व्यापारी का इंटरव्यू लिया है. शनिवार को डेली टेलिग्राफ ने हेडलाइन लगाई 'एक्सक्लूसिव: भारत का सबसे वांछित शख्स नीरव मोदी- 13 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने वाला लंदन में आराम से रह रहा है.'

इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि 48 साल का आरोपी नीरव मोदी ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट के लग्जरी फ्लैट में मजे से रह रहा है. बता दें कि भारत सरकार ने ब्रिटेन सरकार से उसके प्रत्यर्पण का अनुरोध किया है और कहा कि है कि उसके खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया हुआ है.

डेली टेलिग्राफ ने बताया है कि नीरव मोदी ने सोहो में हीरे का नया कारोबार भी शुरू कर लिया है. वीडियो में मोदी पहले से मोटा लग रहा है और उसने दाढ़ी बढ़ा ली हैं. वहीं भारत सरकार के सूत्रों और दूसरे उच्च सूत्रों का कहना है कि नीरव मोदी ने लंदन में प्लास्टिक सर्जरी करवाई है ताकि वह प्रत्यर्पण से बच सके.

बता दें कि डेली टेलिग्राफ की रिपोर्ट में बताया गया है कि उसने नीरव मोदी के 62 करोड़ रुपये के आलीशान लग्जरी स्काईस्क्रैपर घर को ढूंढ लिया है जिसमें वह इन दिनों रह रहा है. इस घर का मासिक किराया 13 लाख रुपये के करीब है. अखबार का दावा है कि उसने यहां हीरे का नया व्यापार भी शुरू कर लिया है जिसे वह अपने घर से थोड़ी सी दूरी से संचालित करता है. इस व्यापार की शुरुआत उसने मई 2018 में की थी. उसने होलसेल ट्रेड एंड रिटेलर इन वाचिस एंड ज्वैलरी में अपने कारोबार को सूचीबद्ध करवाया है.

डेली टेलिग्राफ ने लिखा, 'ऐसा लगता है कि मोदी ने अपने भगोड़ेपन को छिपाने के लिए आश्चर्यजनक रूप से एक अडिग रवैया अपनाया हुआ है. वह अपने घर और हीरा कंपनी के बीच अपने कुत्ते को घुमाने के लिए ले जाता है.' टेलिग्राफ को सरकारी सूत्रों से पता चला है कि मोदी को हालिया महीनों में विभाग ने एक राष्ट्रीय बीमा नंबर दिया है ताकि वह काम कर सके. अखबार ने ये भी बताया है कि वह यूके में ऑनलाइन बैंक अकाउंट को संचालित कर सकता है जबकि भारत में वह वांछित है.

पूर्व नेवी चीफ ने चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी, कहा- सेनाओं का मतदाताओं को लुभाने के लिए इस्तेमाल ना करें

First published: 9 March 2019, 9:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी