Home » बिज़नेस » Nitin Gadkari assures Will clean 70% of Ganga river by 2019-end
 

2019 के चुनाव से पहले मोदी सरकार 70 फीसदी गंगा साफ़ कर देगी ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2018, 14:50 IST

गंगा की सफाई का जिम्मा संभाल रहे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि गंगा सफाई का कार्य साल 2019 तक 70 फीसदी पूरा हो जायेगा. गंगा सफाई का वादा मौजूदा सरकार ने साल 2014 के चुनावों से पहले किया था. हालांकि राज्य सरकारों के साथ विभिन्न स्तरों पर योजनाएं फंस गईं. केंद्र सरकार ने कुछ कंपनियों को गंगा सफाई का कार्य सौंपा था, जिनमें तूतीकोरिन में प्रदूषण को लेकर विवाद में फंसी वेदांता भी शामिल है.

इस अभियान में गंगा की सहायक नदियों को भी देखा जा रहा है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक इंटरव्यू में कहा कि गंगा की 40 सहायक नदियां हैं और हम इन्हें साफ करने के लिए काम कर रहे हैं. इनमें से एक दिल्ली की यमुना नदी भी शामिल है. उन्होंने कहा, हालांकि गडकरी ने कहा कि यमुना के पानी की सफाई पर काम धीमा चल रहा है और मुझे उसकी चिंता है. उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री और लेफ्टिनेंट गवर्नर से इस मामले में तीन बार मिल चुका हूं.

गडकरी का कहना है कि उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में नए सीवेज उपचार संयंत्र पर 193 परियोजनाओं के लिए करीब 200 अरब रुपये मंजूर किए गए हैं. 2014 में तय की गई 193 परियोजनाओं में से अभी केवल 20 ही पूर्ण हुई हैं. इनमें से सबसे ज्यादा राशि 52.4 अरब यूपी को दी गई है. सीवेज उपचार संयंत्र बनाने के लिए 45.5 अरब रुपये बिहार को दिए गए हैं. अब तक राज्यों ने सालाना 8.6 अरब रुपये के हिसाब से 34.6 अरब रुपये खर्च किए हैं.

बीजेपी नेताओं का कहना है कि किसी अन्य सरकार ने अभी तक इस मुश्किल लक्ष्य के लिए इतना धन और योजनाएं नहीं पेश की. बीजेपी नेताओं का यह भी मानना है कि अगर हम गंगा को साफ करने में असफल होते हैं तो जनता हमें माफ नहीं करेगी. गडकरी केंद्रीय मंत्री उमा भारती के साथ कई जगह गंगा के किनारों पर प्रदूषण करने वाले कस्बों के दौरे कर चुके हैं. उन्होंने स्थानीय प्रशासन से उनके क्षेत्र में सफाई और बहाली पर तेजी लाने के लिए आग्रह किया है.

ये भी पढ़ें : पर-कैपिटा इनकम के मामले में बांग्लादेश 2020 तक भारत से आगे निकल जायेगा ?

First published: 28 May 2018, 14:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी