Home » बिज़नेस » No gst of the Sale on old gold jewellery by individuals.
 

मोदी सरकार का यू-टर्न, अब इन गहनों पर नहीं देना होगा GST

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2017, 14:22 IST

मोदी सरकार ने पुराने गहनों की खरीद-बिक्री पर जीएसटी को लेकर नये आदेश जारी किए हैं. वित्त मंत्रालय ने साफ किया है कि पुराने गहने बेचने पर जीएसटी नहीं लगेगा. बता दें कि देश में 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो गया है.

राजस्व विभाग ने ताजा फैसले में कहा है कि लोगों द्वारा पुराने गहनों और पुराने वाहनों की बिक्री पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) नहीं लगेगा. इस तरह की बिक्री किसी कारोबारी मकसद से नहीं की जाती है. गौरतलब है कि हाल में ही मोदी सरकार के राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने कहा था कि पुराने गहनों या सोना आदि बेचने पर अर्जित राशि पर 3 प्रतिशत जीएसटी लागू होगा.

वित्त मंत्रालय के मुताबिक पुराने गहने बेचने पर जीएसटी नहीं लगेगा. अगर कोई ज्वेलर जीएसटी में रजिस्टर्ड नहीं है, तो उसे पुरानी ज्वेलरी पर जीएसटी देना होगा. जो ज्वेलर जीएसटी में रजिस्टर्ड नहीं है, उसे पुरानी ज्वेलरी बेचने पर 3 फीसदी जीएसटी देना होगा.

जीएसटी लागू होने के बाद पुरानी ज्वेलरी के बदले नई ज्वेलरी लेने पर मेकिंग चार्ज पर जीएसटी देना होगा. मेकिंग चार्ज पर 18 फीसदी जीएसटी देना होगा. वित्त मंत्रालय का कहना है कि पुराने गहने के बदले नए गहने लेते हैं, तो इसे सर्विस माना जाएगा, ऐसे में नए गहने के मेकिंग चार्ज पर 18 फीसदी जीएसटी लगेगा. 

First published: 14 July 2017, 14:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी