Home » बिज़नेस » No proposal to withdraw of Rs 2,000 currency notes says modi govt
 

मोदी सरकार ने 2000 के नोट लेकर किया बड़ा ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2018, 15:35 IST

केंद्र सरकार ने 2000 रुपये के नोट को बाजार से वापस लेने को लेकर बड़ा बयान दिया है. सरकार का कहना है कि 2000 रुपये  के नोट को वापस लेने की कोई योजना नहीं है.

नोटबंदी के करीब दो साल पूरे होने से पहले शुक्रवार को केंद्र सरकार ने कहा देश के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने नोटबंदी के दौरान जमा नोटों का वैरिफिकेशन पूरा कर लिया है और इसके साथ ही  इन नोटों को नष्ट करने का मामला एक मुद्दे से ज्यादा नहीं है. टीवी न्यूज चैनल विभिन्न एजेंसी के हवाले से खबरें चला रहे हैं. 

ये भी पढ़ें- जानिए आखिर क्यों आरबीआई ने 'रानी की बावड़ी' को 100 रुपये के नए नोट के लिए चुना

केंद्र सरकार ये भी कहा कि नोटबंदी के अवैध करार कर दिए गए 500 और 1000 रुपये के नोट आरबीआई ने वेरिफिकेशन के बाद नष्ट कर दिए गए हैं. पिछले साल आरबीआई ने बताया था कि नोटबंदी के बाद 90% नोट बैकिंग सिस्टम में वापस आ गए थे. 

हालांकि इस मामले में सरकार बार बार ये बात दोहराती रही है कि उसका 2000 रुपये के नोट को वापस लेने का कोई प्रस्ताव नहीं है. पिछले साल वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया संसद में लिखित जवाब देते हुए ये बात कही थी.

इस साल अप्रैल में कुछ राज्यों में नकदी की कमी हो गई थी और कई एटीएम खाली हो गए थे. इस पर सरकार ने कहा कि ये बाजार में रुपये की अचानक मांग की वजह से हुई. इसकी वजह  2000 रुपये के नए नोटों में कमी बताई गई थी. इसके अलावा 200ल रुपये के नोट के लिए एटीएम के कैसेसट्स बदले गए थे.

First published: 10 August 2018, 15:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी