Home » बिज़नेस » Ola invests $100 million in scooter-sharing startup Vogo
 

OLA की मदद से ये स्टार्टअप सडकों पर दौड़ाएगा 100,000 नए स्कूटर, इस ऐप से कीजिये बुक

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 December 2018, 16:08 IST

भारत की अग्रणी कैब सर्विस देने वाली कंपनी ओला (एएनआई टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड), जो वोगो में एक मौजूदा निवेशक है, ने इस स्कूटर-शेयरिंग स्टार्टअप में 100 मिलियन डॉलर का निवेश किया है. कंपनी अब स्कूटर शेयरिंग सर्विस कदम रखने जा रही है. ओला का कहना है कि निवेश कम से कम 100,000 नए स्कूटर स्टार्टअप हासिल करने में मदद करके वोगो के मंच को आगे बढ़ाएगा.

इस साल की शुरुआत में वोगो ने ओला, मैट्रिक्स पार्टनर्स, स्टालेरिस वेंचर पार्टनर्स और हीरो मोटोकॉर्प के चेयरमैन पवन मुंजाल के नेतृत्व में सीरीज ए फंडिंग दौर में 6-7 मिलियन डॉलर जुटाए थे. ओला ने कहा कि वोगो की पेशकश जल्द ही ओला के मंच पर अपने मोबाइल ऐप के माध्यम से उपलब्ध होगी.

ओला के सह-संस्थापक और सीईओ भावीश अग्रवाल ने एक बयान में कहा "ओला भारत में एक मजबूत गतिशीलता पारिस्थितिक तंत्र बनाने के लिए प्रतिबद्ध है, जिससे आजीविका पर गहरा असर पड़ता है. वोगो में हमारा निवेश देश में पहली-अंतिम मील कनेक्टिविटी के लिए स्मार्ट मल्टी-मोडल नेटवर्क बनाने में मदद करेगा. वोगो के स्वचालित स्कूटर-शेयरिंग प्लेटफार्म हमारे शहरों को बदलने में मदद कर सकते हैं''.

पिछले सितंबर में वोगो ने एवी थॉमस समूह के चेयरमैन अजीत थॉमस पूर्व फॉर्मूला वन चालक करुण चंदोक को निवेशकों से रूप में शामिल किया था. इस साल की शुरुआत में, ओला ने अपने शुरुआती सार्वजनिक परिवहन व्यवसाय का विस्तार करने के लिए परिवहन सूचना प्रदाता रिडलर (बर्ड आई सिस्ट प्राइवेट लिमिटेड) खरीदा.

भारत में कंपनी अपने प्रतिद्वंद्वी उबर के खिलाफ संघर्ष करने जा रही है. दिसंबर में ओला ने आईआईटी कानपुर परिसर ओला पेडल में एक साइकिल शेयरिंग सेवा का परीक्षण शुरू किया था. "पिछले पांच महीनों में वोगो ने तेजी से कदम बढ़ाये हैं. कंपनी ने कहा कि हम इस यात्रा में ओला से जुड़ने के लिए रोमांचित हैं और आने वाले समय में रणनीतिक और पूंजी कुशल आपूर्ति के साथ-साथ लाखों ग्राहकों तक पहुंच प्रदान करेंगे.

ये भी पढ़ें : टैलेंट की कमी के चलते इस सेक्टर में खाली पड़ी हैं 4,000 से ज्यादा नौकरियां

First published: 18 December 2018, 16:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी