Home » बिज़नेस » on google play store samsung fake app available, this may harmful for your device, check it
 

1 करोड़ से ज्यादा मोबाइल में है यह फेक एप, चेक करें अपना फोन और तुरंत करें अनइंस्टॉल, नहीं तो...

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2019, 13:12 IST

आमतौर पर स्मार्टफोन यूजर्स गूगल प्ले स्टोर से ऐप डाउनलोड करते हैं. वैसे तो गूगल प्ले स्टोर पर हजारों ऐप मौजूद हैं लेकिन लोग अपनी सुविधा और के जरुरत के अनुसार ऐप इंस्टॉल करते हैं. लेकिन चाहे-अनचाहे में कुछ ऐसे फेक ऐप डाउनलोड हो जाते हैं जो आपके मोबाइल में स्टोर डाटा चुराकर बैंक डिटेल और अन्य जरुरी जानकारी प्राप्त कर लेता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक 1 करोड़ से ज्यादा मोबाइल में एक ऐसा फेक ऐप इंस्टाल हो गया है जो कभी भी ऑनलाइन फ्रॉड कर आपके पैसे उड़ा सकता है. इस फर्जी ऐप की जानकारी आगे दी जा रही है ताकि आप सतर्क रहें और धोखाधड़ी का शिकार होने से बच सकें.

गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद कुछ एप फेक भी हैं. जिसे लेकर पिछले दिनों विभिन्न बैंकों की तरफ से चेतावनी जारी की गई थी. ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिसमें प्ले स्टोर पर उपलब्ध कुछ फेक बैंकिंग एप डाउनलोड करते ही खाताधारकों के अकाउंट से पैसे निकल गए.

अब आसानी से मिल जाएंगे चोरी हुए मोबाइल, सरकार करेगी फोन ट्रैकिंग सिस्टम लांच

पैसा जमा करने के नियम में बड़ा बदलाव, आपके अकाउंट में कोई दूसरा नहीं कर पाएगा डिपॉजिट

1 करोड़ से ज्यादा मोबाइल में मौजूद है ये फेक एप

प्ले स्टोर पर मौजूद ऐसा ही एक फर्जी एप सैमसंग के एक करोड़ से ज्यादा मोबाइल फोन में डाउनलोड हो चुका है. सिक्योरिटी ग्रुप CSIS की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस फेक एप का नाम ''Updates for Samsung'' हैं. इस एप को यूजर सैमसंग की तरफ से तैयार किया गया ओरिजनल एप समझकर इंस्टॉल कर रहे हैं.

LIC ने युवाओं को दी जबरदस्त सौगात, मिलेगा इतने हजार रुपये प्रतिमाह का फिक्स इनकम

ऐसे करें बचाव

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि यह एप एड दिखाने के साथ ही यूजर्स को 34.99 डॉलर (करीब 2,450 रुपये) में सैमसंग का फर्मवेयर डाउनलोड करने का विकल्प दे रहा है. एप में पेमेंट के लिए गूगल प्ले सबस्क्रिप्शन से बिलिंग की बजाय क्रेडिट कार्ड की डिटेल की मांग करता है. एप की मेन स्क्रीन पर आने वाला मेन कॉन्टेंट updato.com नामके ब्लॉगिंग वेबसाइट को रेंडर करके आता है. अगर आपके मोबाइल में यह मौजूद हैं तो इसे तुरंत अनइंस्टॉल कर दें और डिवाइस के ऑपरेटिंग सिस्टम को अपडेट कर दें.

First published: 7 July 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी