Home » बिज़नेस » Online Shopping Every third person is getting fake products snapdeal top in chart
 

सावधान! ऑनलाइन शॉपिंग पर भारी डिस्काउंट, लेकिन मिल रहा है नकली सामान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2018, 16:54 IST

ऑनलाइन शॉपिंग का मार्केट तेजी से बढ़ता जा रहा है. ऐसे में आपको मिलने वाले सामने के नकली होने की भी शिकायतें लगातार बढ़ रही हैं. इनमें सबसे अधिक डिस्काउंट के नाम पर मिलने वाले प्रोडक्टर शामिल हैं.

ये बात हाल ही में किए गए एक सर्वे में सामने आई है. जिसमें बताया गया है कि एक तिहाई लोगों को ई-कॉमर्स कंपनियां नकली सामान भेज देती है. ये सर्वे लोकलसर्किल्स नाम की कंपनी ने किया. सर्वे के लिए कंपनी ने 12 हजार यूनि‍क कंज्‍यूमर्स का सर्वे कि‍या.

सर्वे में शामिल कंज्‍यूमर्स का मानना है कि लोगों का ध्‍यान आकर्षि‍त करने के लि‍ए समान बेचने वाली ई-कॉमर्स साइट्स नकली प्रोडक्‍ट्स को हैवी डि‍स्‍काउंट के साथ पेश कर रही हैं. वहीं, ज्‍यादातर कंपनि‍यां डि‍स्‍काउंट के चक्‍कर में समान बेचने वालों की मूल जांच नहीं करती हैं.

सर्वे के पहले पोल में शामिल 6,923 कंज्यूमर्स में से 38 फीसदी ने स्वीकार किया कि उन्हें बीते एक साल में ई-कॉमर्स साइट से नकली प्रोडक्‍ट मि‍ले हैं. 45 फीसदी ने कहा कि‍ उनके साथ ऐसा नहीं हुआ है जबकि‍ 17 फीसदी ने कहा है कि‍ वह इसके बारे में कुछ नहीं जानते।.

वहीं दूसरा पोल मार्केट रि‍सर्च प्‍लेटफार्म वेलोसि‍टी एमआर ने 3,000 लोगों पर कि‍या. इस सर्वे में पाया गया कि बीते छह माह में हर तीसरे ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले को नकली प्रोडक्‍ट्स मि‍ले. वहीं सर्वे में कंज्यूमर्स से ये बात भी पूछी गई कि कौन सी बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी ने बीते एक साल में नकली प्रोडक्‍ट भेजा.

जिस सवाल के जवाब में लोगों ने अलग अलग जवाब दिए. 12 फीसदी ने स्‍नैपडील को नकली सामान भेजने का दोषी बताया. वहीं 11 फीसदी लोगों ने अमेजॉन और 6 फीसदी ने फ्लि‍पकार्ट का नाम लिया. वहीं 71 फीसदी लोग ऐसे हैं जो ऑनलाइन शॉपिंग नहीं करते या उन्हें नकली प्रोडक्‍ट नहीं मि‍ला है.

सर्वे में ये बात भी सामने आई कि ई-कॉमर्स कंपनी द्वारा भेजे गए नकली प्रोडक्‍ट्स में सबसे ऊपर परफ्यूम और दूसरे फ्रेंगनेंस हैं. इसके बाद जूते और स्‍पोर्टिंग का सामान शामिल है. वहीं 51 फीसदी ने कहा कि‍ दूसरे कैटेगरी के प्रोडक्‍ट जैसे फैशन, अपैरल, बैग्‍स, गैजेट्स आदि‍ जैसा सामान ई-कॉमर्स कंपनियां नकली सामान भेजती हैं.

ये भी पढ़ें- बैंक अब इन फ्री सेवाएं के लिए भी वसूलेगा चार्ज

First published: 24 April 2018, 16:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी