Home » बिज़नेस » OP Bhatt replaces Cyrus Mistry as Tata Steel Chairman
 

साइरस मिस्‍त्री की जगह ओपी भट्ट को बनाया गया टाटा स्टील का अंतरिम चेयरमैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:19 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

टाटा स्टील के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने साइरस मिस्त्री को कंपनी के चेयरमैन पद से हटाकर स्वतंत्र निदेशक ओपी भट्ट को अंतरिम चेयरमैन बनाया है. ओपी भट्ट पहले सार्वजनिक क्षेत्र के देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन के रूप में काम कर चुके हैं.

कंपनी ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा, "कंपनी के निदेशक मंडल ने 25 नवंबर, 2016 को सर्कुलर प्रस्ताव के जरिये बहुमत से साइरस मिस्त्री को बोर्ड के चेयरमैन पद से तत्काल हटाने का फैसला किया." उनके स्थान पर स्वतंत्र निदेशक ओपी भट्ट को बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. ओपी भट्ट ईजीएम का नतीजा आने तक चेयरमैन पद पर बने रहेंगे.

कंपनी ने कहा, "भट्ट की चेयरमैन के रूप में नियुक्ति बेहतर कॉरपोरेट गवर्नेंस के सिद्धांतों को ध्यान में रखकर और कंपनी को एक पक्षपातरहित नेतृत्व प्रदान करने के लिए किया गया है." टाटा स्टील ने कहा कि इस फैसले से कंपनी में स्थिरता भी सुनिश्चित होगी और यह टाटा स्टील के अंशधारकों के व्यापक हित में है.

शेयर बाजारों को अलग से भेजी सूचना में कंपनी ने कहा है कि उसके निदेशक मंडल ने 21 दिसंबर को असाधारण आम बैठक बुलाई है, जिसमें मिस्त्री और नुस्ली वाडिया को निदेशक से हटाने पर विचार किया जाएगा. टाटा संस की टाटा स्टील में 29.75 प्रतिशत हिस्सेदारी है. 

गौरतलब है कि ओपी भट्ट को 10 जून 2013 को कंपनी का स्वतंत्र निदेशक नियु्क्त किया गया था. भट्ट स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन रह चुके हैं. वे ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन लिमिटेड, टाटा स्टील लिमिटेड और हिन्दुस्तान यूनीलिवर लिमिटेड के बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक भी हैं.

टाटा संस के निदेशक बोर्ड ने 24 अक्टूबर के दिन मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटा दिया था. तभी से टाटा ग्रुप की इस होल्डिंग कंपनी और मिस्त्री के बीच विवाद जारी है.

First published: 26 November 2016, 10:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी