Home » बिज़नेस » Pakistan On its Independence Day, stares at bankruptcy
 

स्वतंत्रता दिवस पर क्या है पाकिस्तान का सबसे बड़ा डर, इमरान खान भी हैं चिंतित

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 August 2018, 16:38 IST

पाकिस्तान आज अपने स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाता है. हालांकि इसी दौर में पाकिस्तान बड़े आर्थिक संकट से भी जूझ रहा है. स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के पास केवल 10 अरब डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार है, जो कि दो महीने के बाद आयात को वित्त पोषित करने के लिए पर्याप्त नहीं है. देश इसे गंभीर खतरा मान रहा है. माना जा रहा है कि इस स्थिति से निपटने के लिए पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बनने जा रहे इमरान खान को बड़ी मेहनत करनी होगी, जिनका शपथ 18 अगस्त को होना है.

भुगतान संकट का संतुलन चालू खाता घाटे को उत्पन्न करता है, जिसमे कि निर्यात के मूल्य से अधिक आयात का मूल्य है. पाकिस्तान के चालू खाता घाटे में सिर्फ दो साल में चार गुना वृद्धि हुई है. वित्त वर्ष 18 में यह 18 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया, जो पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 42.5 फीसदी अधिक था. दो साल पहले यह 4.876 अरब डॉलर था, जो अगले वर्ष 12.621 अरब डॉलर हो गया.

 

जुलाई 2017 और मार्च के बीच देश के आयात बिल का लगभग 70 प्रतिशत ऊर्जा, मशीनरी और धातुओं के लिए था.आयात बिल मुख्य रूप से चीन से उच्च तेल की कीमतों के कारण बढ़ा. चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे कार्यक्रम के तहत पाकिस्तान में कई बुनियादी ढांचा परियोजनाएं बना रहा है. निर्यात में मामूली वृद्धि हुई जिसमे मुख्य रूप से कपड़ा हैं.

पाकिस्तान ने अपने निर्यात को सस्ता बनाने के उद्देश्य से दिसंबर से चार गुना घटा दिया है. पिछली नवाज शरीफ सरकार विदेशी रिजर्व बनाने के लिए कम तेल की कीमतों का लाभ उठाने में नाकाम रही. भ्रष्ट शासन, दोषपूर्ण आर्थिक नीतियां और कम कर राजस्व ने पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था को मंदी की कगार पर ला दिया है.

पाकिस्तान के लिए एकमात्र विकल्प ऋण के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में जाना है. पाकिस्तान ने 1980 से आईएमएफ से एक दर्जन से अधिक बार उधार लिया है. हालांकि चालू वित्त वर्ष के लिए कुल वित्तपोषण अंतर करीब 12 अरब डॉलर है, लेकिन पाकिस्तान को अधिकतम कोटे के मुताबिक आईएमएफ से 9 बिलियन डॉलर से अधिक नहीं दे सकता.

ये भी पढ़ें : रुपये में रिकॉर्ड गिरावट के लिए सरकार ने ठहराया इन कारणों को जिम्मेदार

First published: 14 August 2018, 16:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी