Home » बिज़नेस » Panama is no longer a hideout for tax evaders, Barbados, Grenada, South Korea, Macao, Mongolia, Tunisia
 

टैक्स चोरों के लिए बड़ी राहत, 'पनामा नहीं रहा अब टैक्स चोरों के लिए पनाहगाह'

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 January 2018, 12:51 IST

यूरोपीय संघ के देशों के वित्त मंत्रियों ने मंगलवार को एक अहम फैसले में टैक्स हैवेन देशों की नई सूची में पनामा सहित कई देशों के नाम हटा दिए हैं. पनामा सहित कई देश दुनियाभर में टैक्स चोरी करने वालों के लिए  सुरक्षित पनाहगार माने जाते है. कुछ दिन पहले पनामा में पैसे रखने वाले कई भारतीयों का खुलासा हुआ था. इनमे कई भारतीय उधोगपतियों  के नाम शामिल थे. 

हालाँकि संघ के कई कार्यकर्ता इस कदम का विरोध कर रहे हैं. यूरोपीय संघ द्वारा तैयार की गई इस नई सूची में संयुक्त अरब अमीरात, ट्यूनीशिया, मंगोलिया, मकाऊ, ग्रेनाडा और बार्बडोस के नाम हटा दिए हैं. इससे पहले संघ ने 17 गैर-यूरोपीय देशों की मूल सूची जारी की थी.

संघ के इस निर्णय का विरोध कर रहे ऑक्सफैम का कहना है कि यह कदम पिछले साल जारी पनामा दस्तावेज के बाद टैक्स चोरी के खिलाफ यूरोपीय संघ की लड़ाई को कमजोर करेगा. जबकि यूरोपीय संघ ने एक बयान में कहा कि कुल आठ क्षेत्रों को संघ की कर क्षेत्र में गैर-सहयोगी क्षेत्र की सूची से हटाया है. इसकी वजह संबंधित देशों की सरकार का यूरोपीय संघ की चिंताओं को दूर करने का भरोसा देना है.

अब जिन देशों का नाम टैक्स हैवन  देशों की सूची में यूरोपीय संघ की सूची में अमेरिकन समोआ, बहरीन, गुयाम, मार्शल आईलैंड, नामीबिया, पलाऊ, सेंट ल्यूशिया, समोआ ऐंड ट्रिनिडाड और टोबागो बचे हैं.

First published: 24 January 2018, 12:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी