Home » बिज़नेस » Patanjali Ayurved spends Rs. 300 Cr on TVC in a week
 

बाबा रामदेव बने देश के सबसे बड़े विज्ञापनदाता, बहाए 300 करोड़ रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2016, 8:57 IST
QUICK PILL
  • ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 23 से लेकर 29 जनवरी 2016 तक पतंजलि आयुर्वेद के उत्पादों के विज्ञापन करीब 450 टेलीविजन चैनलों पर 17 हजार से ज्यादा बार प्रसारित किए गए. यह आंकड़े इसी दौरान कैडबरी ब्रांड द्वारा प्रसारित किए गए 16 हजार विज्ञापनों से ज्यादा थे.
  • 2015 में रामदेव ने कहा था कि उनकी कंपनी अगले पांच सालों में भारत की सबसे बड़ी एफएमसीजी (फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स) कंपनी बन जाएगी. कंपनी द्वारा टेलीविजन विज्ञापनों के लिए 30 विभिन्न उत्पाद श्रंखलाओं में से सात को चुना गया है.

ब्रांड अंबेसडर बाबा रामदेव वाली पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड जनवरी के आखिरी सप्ताह में कैडबरी को पछाड़ कर सबसे ज्यादा टेलीविजन विज्ञापन देने वाली एफएमसीजी कंपनी बन गई. कंपनी द्वारा तमाम राष्ट्रीय और क्षेत्रीय टीवी चैनलों पर विज्ञापन प्रसारित किए गए.

ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 23 से लेकर 29 जनवरी 2016 तक पतंजलि आयुर्वेद के उत्पादों के विज्ञापन करीब 450 टेलीविजन चैनलों पर 17 हजार से ज्यादा बार प्रसारित किए गए. यह आंकड़े इसी दौरान कैडबरी ब्रांड द्वारा प्रसारित किए गए 16 हजार विज्ञापनों से ज्यादा थे.

विज्ञापन और प्रसारण उद्योग से जुड़े लोगों की माने तो इस बढ़त के आगे भी जारी रहने की संभावना है. इससे पहले टेलीविजन विज्ञापनों के मामले में पतंजलि छठे पायदान पर था. मालूम हो कि बाबा राम देव का ब्रांड बीते नवंबर से ही टॉप 10 की दौड़ में शामिल हुआ है.

Patanjali TVC noodles ramdev balkrishna1.jpg

2015 में रामदेव ने कहा था कि उनकी कंपनी अगले पांच सालों में भारत की सबसे बड़ी एफएमसीजी (फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स) कंपनी बन जाएगी. कंपनी द्वारा टेलीविजन विज्ञापनों के लिए 30 विभिन्न उत्पाद श्रंखलाओं में से सात को चुना गया है.

पढ़ेंः बाबा रामदेव : अरबों के साम्राज्य में शून्य की हिस्सेदारी

इनमें घी, शैंपू, बिस्किट, नूडल्स, शहद, टूथपेस्ट और एलो वेरा क्रीम शामिल है. बाबा रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा कि "समझदार दर्शकों" को लक्ष्य बनाने के लिए न्यूज चैनलों पर भारी मात्रा में विज्ञापन दिखाना कंपनी के स्तर पर लाया गया एक सजग फैसला था.

उन्होंने यह भी कहा, "हमने इस सप्ताह पहली श्रेणी इसलिए हासिल की क्योंकि हमारे सभी सात टेलीविजन वििज्ञापन एक साथ दिखाए गए. हम सात और नए उत्पादों के साथ सामने आ रहे है. इसका मतलब हमारे पास तमाम विज्ञापन पहले से ही हैं."

Patanjali TVC noodles aloe vera.jpg

300 करोड़ रुपये के विज्ञापन

रिपोर्ट बताती हैं कि कंपनी ने 300 करोड़ रुपये विज्ञापन मद में खर्च किए हैं. हालांकि इसका कंपनी द्वारा भी खंडन नहीं किया गया है. 

उधर, रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि इतनी बड़ी संख्या में टेलीविजन विज्ञापन के प्रसारण का एकमात्र उद्देश्य लोगों को यह बताना है कि उनके पास विकल्प मौजूद हैं और वे अपने बजट में ही स्वस्थ जीवनशैली अपना सकते हैं और साथ ही पतंजलि के उत्पाद पारिवारिक मूल्यों और भारतीय संस्कृति को भी मजबूती प्रदान करते हैं.

First published: 7 February 2016, 8:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी