Home » बिज़नेस » Paytm in planning to take on WhatsApp, can introduce instant messaging feature
 

WhatsApp को पीछे करने की तैयारी में जुटा Paytm

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2017, 17:18 IST

एक ओर WhatsApp-Hike जैसे इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म जहां खुद पेमेंट फीचर्स जोड़ने की योजना बना रहे हैं, वहीं भारत की सबसे बड़ी मोबाइल वॉलेट कंपनी Paytm इन कंपनियों जैसी मैसेजिंग सर्विस खुद से देने की योजना बना रही है.

वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक Paytm अपने मोबाइल ऐप में मैसेजिंग फीचर जोड़ने की योजना बना रहा है. ऐसी उम्मीद की जा रही है कि आने वाले दो हफ्तों में यह मैसेजिंग फीचर रोल आउट कर दिया जाए. हालांकि फिलहाल कंपनी को इस बारे में कंफर्म करना बाकी है.

अगर बात करें यूजर बेस की तो भारत में WhatsApp के पास फिलहाल 20 करोड़ मंथली एक्टिव यूजर्स हैं, जबकि Paytm के पास 22.50 करोड़ यूजर्स और 50 लाख ऑफलाइन मर्चेंट्स (व्यापारी).

 

Paytm अपने इस नए कदम से WhatsApp, Hike और Messenger जैसे मैसेजिंग ऐप्स को पीछे छोड़ने की तैयारी कर रहा है. हाल ही में Hike ने अपने मोबाइल ऐप में वॉलटे पेमेंट फैसिलिटी और यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) को जोड़ा था. वहीं, कई रिपोर्टों में बताया गया है कि WhatsApp जल्द ही ऐसी पेमेंट फैसिलिटी जोड़ सकता है.

WhatsApp भारत में peer-to-peer पेमेंट सेवा लाने की तैयारी कर रहा है. इतना भारी यूजरबेस होने के बावजूद इससे मुनाफा न कमा पाने वाले WhatsApp द्वारा पेमेंट सेवा लाना कुछ लॉजिकल नजर आता है. शुरुआत में कंपनी ने अपने इस ऐप के इस्तेमाल के लिए सब्सक्रिप्शन शुल्क लेने की बात कही थी, लेकिन 2016 में यह विचार त्याग दिया.

इसके बाद से इस ऐप ने अपने यूजर्स से एक भी पाई नहीं वसूली. भले ही नोटबंदी का प्रभाव समाप्त हो गया हो, लेकिन अभी भी ऑनलाइन पेमेंट्स सेवाओं को लेकर काफी संभावनाएं है.

इससे पहले 2014 से Paytm के पास एक चैट फीचर है, जिसके जरिये यूजर्स को इस प्लेटफॉर्म पर अपने उत्पाद बेचने वाले वेंडर्स से सीधे और रीयल टाइम बात करने का मौका मिलता है. हाल ही में कंपनी ने Paytm Bank भी लॉन्च किया और नोएडा में अपना पहला फिजिकल बैंक खोला. पहले चरण में कंपनी 31 ब्रांच और 3,000 ग्राहक सेवा केंद्र खोलेगी.

First published: 2 August 2017, 17:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी