Home » बिज़नेस » Paytm losses swell 70% to ₹1,490 crore in 2017-18
 

क्या डूब रहा है Paytm का ऑनलाइन कारोबार, पिछले वित्त वर्ष में हुआ इतना नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 October 2018, 16:44 IST

विजय शेखर शर्मा के पेटीएम Paytm समूह को अपने ऑनलाइन खुदरा कारोबार में बीते दिनों नुकसान उठाना पड़ा है. डिजिटल भुगतान मामले में फ्लिपकार्ट के फोनपे और गूगल-पे से इसे लगातार चुनौती मिल रही है. कंपनी ने कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय को यह जानकारी दी है कि पिछले फाइनेंशियल इयर में कंपनी को 879.6 करोड़ रुपये की शुद्ध घाटा हुआ.

बिजनेस इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म टोफलर के आंकड़ों से पता चला है कि मोबाइल पेमेंट ऐप पेटीएम की मूल कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने पिछले वित्त वर्ष में 70 फीसदी की शुद्ध हानि को दर्ज की है. चीन के अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग लिमिटेड द्वारा समर्थित कंपनी ने 31 मार्च, 2018 को समाप्त वर्ष में 1,490.7 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया था.

पिछले वर्ष में पेटीएम को 879 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था. हालांकि कंपनी का कुल राजस्व वित्त वर्ष 17 में 780 करोड़ रुपये से चार गुना से बढ़कर, 3,314 करोड़ रुपये हो गया. कर्मचारी, सूचना प्रौद्योगिकी और विज्ञापनों की लागत में कंपनी ने अधिक खर्च किया है.

 

पीटीएम ने वित्त वर्ष 18 में कर्मचारी खर्चों के लिए 40 540 करोड़ खर्च किए.पेटीएम ने अपने बढ़ते घाटे के बावजूद निवेशक आकर्षण बनाए रखा है. वॉरेन बफेट के बर्कशायर हैथवे इंक से उसने 300 मिलियन डॉलर जुटाए थे.

कंपनी ने अपने ई-कॉमर्स बिजनेस पेटम मॉल को एक अलग होल्डिंग में बनाया है, जिसे पेटीएम ई-कॉमर्स प्राइवेट नाम दिया गया है. ऑनलाइन रिटेलर ने जापान में सॉफ़्टबैंक ग्रुप कार्पोरेशन और चीन के अलीबाबा ने कंपनी में बड़ा निवेश किया था.

ये भी पढ़ें : TV से गायब क्यों हो रहे हैं बाबा रामदेव की पतंजलि के विज्ञापन ?

First published: 29 October 2018, 16:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी