Home » बिज़नेस » Paytm Payments Bank Submits List 3500 Fraud Phone Number to MHA TRAI
 

Paytm Fraud Phone Number List : आप भी करते हैं Paytm का इस्तेमाल तो इन फोन नंबरों से हो जाएं सावधान, नहीं तो खाली हो जाएगा अकाउंट

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 January 2020, 10:10 IST

Paytm Fraud Phone Number : हाल के दिनों में ऑनलाइन फ्रॉड (Online Fraud) के केस बहुत बढ़ गए हैं. ऐसे में ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) की सेवाएं देने वली हर कंपनी अपने ग्राहकों (Customers) को इस तरह के फ्रॉड (Fraud) से बचाने के लिए कोशिश कर रही है. पेटीएम पेमेंट ऐप (Paytm Payment Bank App) ने भी अपने ग्राहकों को चेतावनी (Warning) दी है कि वह उन नंबरों से सावधान रहें जिसने आपका अकाउंट खाली हो सकता है. अगर आप भी पेटीएम पेमेंट बैंक (Paytm Payments Bank) का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं.

दरअसल, पेटीएम पेमेंट बैंक ने ग्राहकों को धोखाधड़ी के जाल में फंसाने के लिए किए जाने वाले फोन नंबरों की पहचान की है. Paytm Payment Bank ने 3,500 फोन नंबरों की सूची गृह मंत्रालय (MHA), ट्राई (TRAI) और सीईआरटी-इन (CERT-In) को सौंपी है. बता दें कि जालसाज इन फोन नंबरों के जरिये ग्राहकों को धोखाधड़ी के जाल में फंसाते थे. पेटीएम पेमेंट बैंक ने दावा किया है कि उसने इस स्कैम को रोकने के लिए इन लोगों के खिलाफ साइबर सेल में भी प्राथमिकी दर्ज की है.


दरअसल, ट्राई, गृह मंत्रालय और सीईआरटी-इन के अधिकारियों के साथ कई बैठकों में पीपीबी ने विभिन्न संवेदनशील सूचनायें जुटाने और धोखाधड़ी वाले मोबाइल फोन, एसएमएस और कॉल के जरिये हो रहे घोटाले की जानकारी दी. इसकी वजह से डिजिटल भुगतान करने वाले ग्राहक प्रभावित हो रहे हैं. सीईआरटी-इन कम्प्यूटर सुरक्षा संबंधी मामलों में कार्रवाई करने वाली एजेंसी है.

पीपीबी ने कहा कि अधिकारियों के साथ बैठक में कंपनी ने स्पष्ट कर दिया कि इस तरह की धोखाधड़ी से लाखों भारतीयों का भरोसा डगमगाता है. कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि हमारे जैसे बैंक इन नंबरों की पहचान कर भविष्य में धोखाधड़ी और घोटालों को विधि प्रवर्तन एजेंसियों, नियामकों और दूरसंचार आपरेटरों के सहयोग से रोका जा सकता है.

गौरतलब है कि इस समय Paytm में केवाईसी (KYC) के नाम पर धोखाधड़ी के मामले सबसे अधिक देखने को मिल रहे हैं. इसमे धोखेबाज खुद को पेटीएम कस्टमर केयर टीम का बताकर ग्राहक को कॉल करते हैं. वह ग्राहक से पेटीएम सर्विस को जारी रखने के लिए केवाईसी कंप्लीट करने के लिए कहते हैं. इसके लिए वह ग्राहक से ऐप डाउनलोड करने के लिए भी कहता है. इसी ऐप के जरिए हैकर ग्राहक की जानकारी चुराकर उसका पेटीएम अकाउंट खाली कर देता है.

बता दें कि धोखाधड़ी की घटनाओं से पहले ग्राहक के मोबाइल पर पेटीएम के नाम से पहले एक एसएमएस भेजा जाता है, जिसमें कहा जाता है कि हम कुछ समय बाद आपका पेटीएम अकाउंट होल्ड कर देंगे, अपने पेटीएम केवाईसी को पूरा करें. ग्राहक को इस तरह के किसी भी झांसे से सावधान रहने की जरूरत है. पेटीएम ने स्वयं इस संबंध में चेतावनी जारी की है.

सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि आपके मोबाइल पर कोई मैसेज आता है या ई-मेल या पॉप-अप आता है तो उसे अच्छे से पढ़ लें. इसके अलावा ओटीपी, सिक्योर कोड, आईडी और रिक्वेस्ट के अंतर का ध्यान रखें. हमेशा ऐप इंस्टॉल करने के लिए प्ले स्टोर का यूज करें और कंपनी के लोगो और स्पेलिंग को चैक कर लें. किसी भी ऐप को अनुमति जरूरत के अनुसार ही दें या फिर वन टाइम अलाउ ही करें. इसके अलावा कैशबेक या रिफंड वाली स्कीमों के लालच में न रहें.

CBDT अलर्ट : नहीं दी PAN और Aadhaar की जानकारी तो कटेगी 20 फीसदी सैलरी

LIC की इस पॉलिसी में खर्च करें रोजाना मात्र 9 रुपये, मिलेंगे पूरे 4.56 लाख

Budget 2020 : जानिए किसके नाम है सबसे लंबे बजट स्पीच का रिकॉर्ड ?

First published: 26 January 2020, 19:09 IST
 
अगली कहानी