Home » बिज़नेस » petrol diesel price break the 4 years record, can increase more in international market
 

पिछले 4 साल में कभी इतना महंगा नहीं हुआ पेट्रोल-डीजल, अभी और भी हो सकता है कीमत में इजाफा

न्यूज एजेंसी | Updated on: 29 September 2018, 14:52 IST

पेट्रोल और डीजल की महंगाई से राहत मिलने की संभावना नहीं दिख रही है, क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में तेजी का सिलसिला लगातार जारी है.कच्चे तेल का दाम शुक्रवार को 83 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चला गया, जो पिछले चार साल का उच्चतम स्तर है.पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार तीसरे दिन बढ़ोतरी दर्ज की गई.

दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में शनिवार को पेट्रोल का दाम क्रमश: 83.40 रुपये, 85.21 रुपये, 90.75 रुपये और 86.70 रुपये प्रति लीटर था.दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल की कीमतों में शनिवार को 18 पैसे जबकि चेन्नई 19 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई.

वहीं, डीजल का दाम शनिवार को दिल्ली और कोलकाता में 21 पैसे प्रति लीटर बढ़ा जबकि मुंबई और चेन्नई में 22 पैसे प्रति लीटर. दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में शनिवार को डीजल की कीमतें क्रमश: 74.63 रुपये, 76.48 रुपये, 79.23 रुपये और 78.91 रुपये प्रति लीटर थीं.महाराष्ट्र के परभणी जिले में पेट्रोल 92.52 रुपये प्रति लीटर था, जबकि डीजल 79.72 रुपये प्रति लीटर.

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड का दिसंबर वायदा आईसीई पर शुक्रवार को 1.86 फीसदी की बढ़त के साथ 82.88 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ जबकि वायदे में 83.39 डॉलर प्रति बैरल तक का उछाल आया.

नायमैक्स पर डब्ल्यूटीआई का नवंबर डिलीवरी वायदा 1.96 फीसदी की बढ़त के साथ 73.53 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ.इससे पहले वायदे में 73.72 डॉलर प्रति बैरल का उछाल आया. घरेलू वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे तेल के अक्टूबर डिलीवरी वायदे में 96 रुपये यानी 1.83 फीसदी की बढ़त के साथ 5,335 रुपये प्रति लीटर पर बंद हुआ, जबकि कीमतों में 5,356 रुपये प्रति बैरल का उछाल आया, जो करीब चार साल का उच्चतम स्तर है.

First published: 29 September 2018, 14:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी