Home » बिज़नेस » Petrol Diesel Price hiked again for 17th consecutive day in India
 

पेट्रोल-डीजल की कीमत ने तोड़ी आम आदमी की कमर, लगातार 17वें दिन हुई बढ़ोतरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2020, 10:11 IST

Petrol Diesel Price rises again: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है. मंगलवार को लगातार 17वें दिन तेल की कीमत (Fuel Price) में इजाफा देखने को मिला. मंगलवार को दिल्ली (Delhi) में पेट्रोल की कीमत (Petrol Price) में 20 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई. वहीं डीजल की कीमत (Diesel Price) में 55 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया गया. इसी के साथ राजधानी दिल्ली में पेट्रोल के दाम बढ़कर 79.76 रुपये प्रति लीटर पहुंच गए. वहीं डीजल के की कीमत 79.40 रुपये प्रति लीटर पहुंच गए हैं.

आने वाले एक या दो दिन में राजधानी दिल्ली में पेट्रोल-डीजल की कीमत समान हो जाएगा. और अगर कीमतें ऐसे ही बढ़ती रहीं तो डीजल के दाम पेट्रोल से भी ज्यादा हो सकते हैं. फिलहाल दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमत में सिर्फ 36 पैसे प्रति लीटर का फर्क है यानी पेट्रोल की कीमत अभी डीजल की कीमत से केवल 36 पैसे प्रति लीटर ज्यादा है. जानकारों के मुताबिक, पेट्रोल के मुकाबले अब डीजल पर ज्यादा वैट लगता है, इसीलिए कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है.


चीनी सेना से झड़प में शहीद कर्नल संतोष बाबू की पत्नी बनीं डिप्टी कलक्टर, सरकार ने दिए 5 करोड़

बता दें कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन में सरकारी खजाना खाली हो गया. ऐसे में सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर एक बार फिर से अपना खजाना भरने की कोशिश कर रही है. क्योंकि लॉकडाउन के दौरान जीएसटी और डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में भारी गिरावट आई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अप्रैल में सेंट्रल जीएसटी कलेक्शन महज 6,000 करोड़ रुपये का हुआ, जबकि एक साल पहले इस अवधि में सीजीएसटी कलेक्शन 47,000 करोड़ रुपये था. बता दें कि जब कच्चे तेल की कीमतें काफी कम थीं, तो सरकार ने टैक्सेज में भारी बढ़त कर इनके दाम बढ़ा दिए. इससे पेट्रोलियम कंपनियों को कोई फायदा नहीं हुआ है.

भारत ने चीन को दिया बहुत बड़ा झटका, 5000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर लगाई रोक

अब जब कच्चे तेल की लागत एक महीने में दोगुना हो गई है तो पेट्रोलियम कंपनियों को अपना फायदा बनाए रखने के लिए इनकी कीमतें लगातार बढ़ानी पड़ रही हैं. इसके अलावा अब कच्चे तेल की कीमत 34-35 डॉलर से ऊपर पहुंच गई, जिससे तेल कंपनियों के सामने चुनौती बढ़ने लगी हैं. ऐसे में पेट्रोलियम उत्पादों के दाम बढ़ा कर कंपनियां मुनाफा कमाना चाहती हैं. गौरतलब है कि कच्चे तेल की मौजूूदा कीमतें एक साल पहले इसी महीने की तुलना में आधी हैं, बावजूद इसके आम आदमी को इसका कोई फायदा नहीं मिल रहा.

कोरोना वायरस का कहर जारी, दुनियाभर में 4.74 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 91 लाख संक्रमित

IT प्रोफेशनल्स को ट्रंप ने दिया बड़ा झटका, इस साल के अंत तक H-1B वीजा सस्पेंड

तेल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी के बाद दिल्ली से सटे नोएडा में पेट्रोल के दाम बढ़कर 80.57 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. वहीं यहां डीजल एक लीटर डीजल के लिए उपभोक्ताओं को 71.66 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं. उधर गुरुग्राम में एक लीटर पेट्रोल के दाम बढ़कर 77.99 रुपये हो गए हैं. यहां एक लीटर डीजल के लिए आपको 71.76 रुपये चुकाने होंगे. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पेट्रोल की कीमत बढ़कर 80.46 रुपये प्रति लीटर हो गई है. अब यहां एक लीटर डीजल 71.58 रुपये में मिल रहा है.

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक जवान शहीद, दो आतंकी किए ढेर

इसी तरह मुंबई में पेट्रोल के दाम बढ़कर 86.54 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. और डीजल की कीमत 77.76 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है. चेन्नई का हाल भी कुछ ऐसा ही है. यहां एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको अब 83.04 रुपये चुकाने होंगे वहीं डीजल के लिए ये कीमत 76.77 रुपये होगी. कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल के दाम 81.45 रुपये हो गए हैं यहां एक लीटर डीजल 74.63 रुपये में मिल रहा है.

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की पीक डिमांड खत्म, राज्यों की मांग के अनुसार चलाई जाएंगी : रेलवे

First published: 23 June 2020, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी