Home » बिज़नेस » Petrol diesel price rise may possible after lok sabha election 2019
 

चुनाव के बाद गाड़ी चलाने वालों को लग सकता है झटका, महंगे हो जाएंगे पेट्रोल-डीजल

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2019, 10:11 IST

लोकसभा चुनाव 2019 समाप्त होने के बाद बाजार में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने वाले हैं. ईरान से तेल आयात पर रोक लगने के चलते भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में असर दिखने लगेगा.

मालूम हो कि भारत ईरान से दवाईयां और खाने के अन्य पदाथों के बदेल कच्चे पेट्रोल तेल का आयात करते हैं, लेकिन अमेरिका के फैसले के बाद 2 मई से भारत को अतिरिक्त नकद भुगतान करना होगा, जिसका असर पेट्रोल-डीजल के दाम पर पड़ेगा.

इस मामले में ट्रेड प्रोमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (टीपीसीआई) के विश्लेषक आशुतोष झा ने कहा, "अभी तो भारत साल में करीब 80 अरब डॉलर का कच्चा तेल ईरान से बगैर नकदी चुकाये लेता है. इसके बदले खाद्य सामग्री और दवाइयों की आपूर्ति की जाती है. अमेरिका ने 'फूड फॉर ऑयल' नीति के तहत ही ईरान को तेल बेचने की इजाजत दी थी. इस मैकेनिज्म के खत्म होने के बाद भारत को अन्य तेल उत्पादक देशों से आपूर्ति को समझौता करना होगा और भुगतान का विकल्प भी बदल सकता है."

RBI का बड़ा ऐलान, एक बार फिर जल्द ही बदले जाएंगे ये नोट

इसके अलावा इंडियन ऑयल के पूर्व अधिकारी ने कहा, "अभी आयात होने वाले मध्यम और खराब क्रूड की रिफाइनिंग के लिए प्रमुख रिफाइनरियां तय हैं. नए आयात पर तेल की किस्म के आधार पर रिफाइनरी तय करनी पड़ेगी, जिसकी लागत कम या ज्यादा हो सकती है."

खुशखबरी : फ्लिपकार्ट ला रहा है 50,000 से ज्यादा नौकरियां

कई पहलुओं का होगा असर

आशुतोष झा ने बताया कि अभी इस बात पर फैसला होना बाकी है कि भारत में कितने तेलों का आयात बढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा, "नए आपूर्तिकर्ता का चुनाव करने से पहले कई पहलुओं को देखना होगा, जिसमें आर्थिक और राजनयिक दोनों शामिल हैं. लिहाजा इसमें कुछ वक्त भी लग सकता है. हालांकि, फैसला कुछ भी हो लेकिन ईरान के मुकाबले अन्य देशों से आने वाला कच्चा तेल हमें महंगा ही पड़ेगा."

रेलवे यात्रियों को झेलनी पड़ सकती है भारी परेशानी, 2 मई तक के लिए ये ट्रेने हुईं रद्द

First published: 25 April 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी