Home » बिज़नेस » Petrol Diesel Price today 21 February 2021 Know the fuel price in your city
 

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर 13वें दिन लगा ब्रेक, आज ये हैं आपके शहर में तेल की कीमत

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 February 2021, 9:58 IST

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर आज 13वें दिन ब्रेक लग गया. तेल की कीमतों में लगातार 12 दिन तक बढ़ोतरी के बाद आखिरकार रविवार को ब्रेक लग गया. आज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी भी तरह का बदलाव नहीं हुआ. इससे पहले शनिवार को राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 39 पैसे की बढ़ोतरी हुई थी. वहीं डीजल के दाम 37 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए थे. इस तरह लगातार 12 दिनों पेट्रोल के दाम 3.64 रुपये प्रति लीटर बढ़ चुके हैं. वहीं इस दौरान डीजल के दाम 4.18 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है.

देश के कुछ शहरों में तो पेट्रोल के दाम 100 रुपये तक पहुंच गए हैं. राजधानी दिल्ली में आज पेट्रो की कीमत 90.58 रुपये प्रति लीटर है. तो वहीं डीजल 80.97 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल के दाम 97 रुपये प्रति लीटर बने हुए हैं. इसके अलावा यहां डीजल 88.06 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 91.78 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है. यहां डीजल के दाम अभी भी 84.56 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. दक्षिण भारत के प्रमुख शहर चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल के लिए ग्राहकों को 92.59 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं. तो एक लीटर डीजल के लिए ये कीमत 85.98 रुपये बनी हुई है.


दिल्ली से सटे गाजियाबाद में 12 दिनों की बढ़ोतरी के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमत क्रमशः 88.78 और 81.24 रुपये प्रति लीटर हो चुके हैं. वहीं अगर आप मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में रहते हैं तो आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए अपनी जेब से 98.60 रुपये देने होंगे. वहीं एक्ट्रा प्रीमियम पेट्रोल के लिए 101.51 रुपये पेमेंट करना होगा. भोपाल में डीजल के दाम 89.23 रुपये प्रति लीटर पहुंच गए हैं. राजधानी दिल्ली के निकट नोएडा में पेट्रोल की कीमत 88.92 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है तो यहां डीजल के दाम 81.41 रुपये प्रति लीटर बने हुए हैं.

Coronavirus : मुंबई में बढे कोरोना के मामले, BMC ने सील कर दी 1,305 बिल्डिंग्स

हरियाणा के गुरुग्राम में पेट्रोल के दाम 88.54 रुपये प्रति लीटर तो डीजल की कीमत 81.55 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है. बता दें कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें पहले सरकार तय किया करती थी, लेकिन केंद्र में बीजेपी सरकार के आने के बाद से तेल की कीमतें तय करने का अधिकार तेल कंपनियों को दे दिया गया. पेट्रोल-डीजल की कीमत में केंद्र और राज्य सरकारों के टैक्स, डीलर कमीशन और वैट लगने के बाद ये दोगुने से ऊपर निकल जाती है. हालांकि वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत साल 2013 के मुकाबले करीब आधी हैं. लेकिन इसका जनता को लाभ के बजाय महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है.

अखिलेश यादव ने CM योगी से क्यों पूछा DNA का फुलफॉर्म? कहा- मान लेंगे वह मुख्यमंत्री हैं

First published: 21 February 2021, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी