Home » बिज़नेस » Petrol Pump Owner Suffering From Increased Of Price Petrol And Diesel
 

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से पेट्रोल पंप मालिकों की बढ़ी मुश्किलें, जानें वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2018, 16:17 IST

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती बेतहाशा बढ़ती जा रही हैं ऐसे में महंगा पेट्रोल-डीजल खरीदने को मजबूर हैं. ऐसा नहीं ही कि पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से उपभोक्ता ही परेशान है बल्कि पेट्रोल पंप मालिक भी इससे मुश्किलें उठा सकते हैं. क्योंकि अगर पेट्रोल-डीजल के दाम ऐसे ही बढ़ते रहे तो उनकी पेट्रोल पंप मालिकों की मुश्किलें बढ़ना तय हैं.

क्यों जैसे ही इसकी कीमत 100 रुपए प्रति लीटर पहुंच जाएगी, तब पेट्रोल पंप मालिकों को और तेल कंपनियों को पेट्रोल पंप पर लगे अपने फ्यूल डिस्पेंसर्स को अपग्रेड करना पड़ेगा. जिसका काम पेट्रोल पंपों पर शुरु भी हो चुका हैजानकारों के मुताबिक, अधिकतर पेट्रोल पंप पर अपग्रेडेशन की जरूरत नहीं है, लेकिन कई पुराने डिस्पेंसर्स पर दशमलव से पहले सिर्फ दो अंकों में ही कीमतें दिखती हैं. अगर पेट्रोल के दाम में 10 रुपए तक की और बढ़ोत्तरी हुई, तो इन पुराने डिस्पेंसर्स वाले पंप को परेशानी होगी.

बता दें कि सोमवार को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 90.22 रुपए और वहीं एक लीटर डीजल की कीमत 78.69 रुपए थी. दिल्ली में पेट्रोल 82.86 रुपए प्रति लीटर और 74.12 रुपए प्रति लीटर पर बिक रहा था.

वहीं सरकारी और प्राइवेट तेल कंपनियों के कार्यकारियों का मानना है कि पेट्रोल का दाम बहुत जल्द 100 रुपए लीटर नहीं होने जा रहे, इसके बावजूद वे डिस्पेंसर्स पर कोई रिस्क नहीं लेना चाहता. अधिकतर सरकारी और प्राइवेट फ्यूल रिटेलर्स के डिस्पेंसर्स में 3 अंकों की दिखाने की क्षमता है. जिन्हें अपग्रेड करने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें- इन 5 राज्यों में समान होंगी पेट्रोल-डीजल और शराब की कीमतें, लगेगा एक जैसा VAT

First published: 26 September 2018, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी