Home » बिज़नेस » Plastic card companies like Visa & Mastercard welcomes PM Modi cashless transaction initiatiive
 

प्लास्टिक कार्ड कंपनियां खुशः पीएम मोदी के कदम का किया स्वागत

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2016, 18:21 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कालेधन पर अंकुश लगाने के लिए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों का चलन बंद किए जाने की घोषणा का अंतरराष्ट्रीय डेबिट और क्रेडिट कार्ड सुविधाएं मुहैया कराने वाली कंपनियों ने स्वागत किया है.

दुनिया भर में प्लास्टिक कार्ड जारी करने वाली दिग्गज कंपनी वीजा ने इस फैसले का स्वागत किया और कहा कि यह मजबूत फैसला देश की अर्थव्यवस्था को कैशलेस इकोनॉमी की दिशा में तेजी से आगे ले जाएगा.

इंटरनेट पर खुद को सुरक्षित रखना चाहतें हैं तो कभी न करें ये काम

वीजा ने अपनी ही रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि नगदी की कीमत के चलते देश की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में 1.7 फीसदी का नुकसान होता है. वीजा इंडिया के टीआर रामचंद्रन ने कहा, "भारत के कैशलेस इकोनॉमी बनने की दिशा में हमने अबतक का यह सबसे महत्वपूर्ण कदम देखा है."

उन्होंने यह भी कहा कि नगदी के सुरक्षित, आसान और लचीले विकल्प मुहैया कराने के रूप में वीजा देशभर में इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट्स के दायरे के विस्तार के लिए प्रतिबद्ध है.

लगातार बदलता रहेगा क्रेडिट-डेबिट कार्ड का सीवीवी नंबर

वहीं, मास्टरकार्ड के पोरुश सिंह ने इस कदम की सराहना करते हुए इस दिशा में सरकार को अपना साथ देने की बात कही. उन्हें उम्मीद है कि कैशलेस ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देकर आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलने के साथ ही अपराध में कमी आएगी.

मास्टरकार्ड सरकार के साथ मिलकर काम करने का वादा करता है जिससे भ्रष्टाचार से लड़ने के कैशलेस समाधान मिल सकें, विकास हो और समाज के सभी सदस्यों का जुड़ाव हो.

First published: 9 November 2016, 18:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी