Home » बिज़नेस » PM Narendra Modi slams congress due to launches India Post Payments Bank
 

PM मोदी ने 'इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक' का किया शुभारंभ, कांग्रेस को लपेटते हुए बोले....

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2018, 17:42 IST
(ANI )

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 'इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक' (आईपीपीबी) का शुभारंभ कर दिया है. IPPB की देशभर में 650 ब्रांच 3250 एक्सेस प्वाइंट पर समानांतर रूप से शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक' का उद्धाटन करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक सितम्बर 2018 को देश के इतिहास में एक अभूतपूर्व सुविधा की शुरुआत होने के रूप में याद किया जाएगा.

पीएम मोदी ने इस दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि साल 2018 तक देश के बैंकों द्वारा 18 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया गया था, लेकिन इसके बाद अगले 6 साल में यह राशि बढ़कर 52 लाख करोड़ रुपये हो गई. जितना लोन  आजादी के बाद दिया गया था उससे दोगुना लोन पिछली सरकार ने 6 साल में बांट दिया था. 

चार पांच साल पहले तो ऐसी स्थिति बना दी गई थी कि बैंकों का अधिकांश पैसा सिर्फ उन्हीं अमीर लोगों के लिए रिजर्व रख दिया गया था, जो एक ही परिवार के करीबी थी. लेकिन हमारी सरकार ने देश के बैंकों को गरीबों के दरवाजे तक पहुंचाया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक देश के किसानों के लिए भी एक बड़ी सुविधा के रूप में साबित होगा. फसल बीमा जैसी योजनाओं को इससे बल मिलेगा. इसकी शुरुआत होने से क्लेम की राशि भी लोगों को घर बैठे मिलेगी. इतना ही नहीं इसकी शुरुआत होने से बेटियों के नाम पर चल रही सुकन्या समृद्धि योजना को भी बढ़ावा मिलेगा.

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार पुरानी व्यवस्थाओं को Reform और perform करके, उन्हें Transform करने का काम कर रही है. आज भले ही मेल और नेट का जमाना हो लेकिन हमारा एक ही लक्ष्य है जिस टेक्नोलॉजी ने पोस्ट ऑफिस को चुनौती दी, उसी टेक्नोलॉजी को आधार बनाकर हम इस चुनौती को अवसर में बदलने की तरफ आगे बढ़ रहे हैं. देश में डेढ़ लाख डाकघर हैं. इनके द्वारा तीन लाख से अधिक पोस्टमैन देश के जन-जन से जुड़े हैं. अब डाकिए के हाथ में स्मार्ट फोन और बैग में एक डिजिटल डिवाइस भी है.

डाकिया चलता फिरता बैंक बन गया

पीएम मोदी ने कहा कि डाकिया और पोस्ट ऑफिस हमारे जीवन का अहम हिस्सा है. आज से देश में डाकिया डाक लाया के साथ-साथ डाकिया बैंक लाया के रूप में जाना जाएगा. IPPB के लॉन्च होने के बाद अब डाकिया चलता फिरता बैंक बन गया है. IPPB बैंक के माध्यम से देश के हर गरीब और आदिवासी तक, दूर-दराज़ के पहाड़ों पर बसे लोगों तक, एक-एक भारतीय के दरवाज़े पर बैंक और बैंकिंग सुविधा का मार्ग खुल रहा है.

ये भी पढ़ें- 'इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक' से जुडी 10 बातें, जो आपको समझनी जरूरी हैं

First published: 1 September 2018, 17:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी