Home » बिज़नेस » PNB SCAM : 2 thousand diamonds sold for 50 lakhs, checkout Himesh Reshammiya
 

2 हजार के हीरे 50 लाख में बेचता था मेहुल चोकसी, हिमेश रेशमिया को भी ठगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 February 2018, 15:16 IST

गीतांजलि के पूर्व एमडी का दावा है कि मेहुल चोकसी ने कई हाई प्रोफाइल लोगों को ठगा. जिन लोगों को चोकसी ने चूना लगाया उनमे संगीतकार हिमेश रेशमिया का नाम भी शामिल हैं. श्रीवास्तव ने बताया कि चोकसी ने एक टीवी विज्ञापन करने के एवज में हिमेश रेशमियां को कम कीमत के हीरे दिए. इतना ही नहीं वह 10 गुना ज्यादा कीमत पर हीरा बेचता था.

गीतांजलि ग्रुप में 2009 से 2013 तक काम कर चुके श्रीवास्तव ने टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि वह अपने कस्टमर को नकली हीरे देता था. गीतांजलि में जिस हीरे की लागत 2000 से 3000 रुपए थी उसे 50 लाख में बेचा. संतोष श्रीवास्तव ने बताया कि वह असली और नकली हीरे की मिक्सिंग काने में माहिर था.

पीएनबी के कम्प्यूटरों पर था नियंत्रण 

पंजाब नैशनल बैंक के सिस्टम में कितने अंदर तक नीरव मोदी अपनी पकड़ बना चुके थे इसका खुलासा सीबीआई की हिरासत में लिए गए पीएनबी के दो अधिकारियों ने किया है. बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार दो कर्मचारियों ने सीबीआई के समक्ष खुलासा किया कि नीरव मोदी और उनकी टीम को पीएनबी के कंप्यूटर सिस्टम में अनधिकृत एक्सेस (unauthorised access) उपलब्ध किया गया था.

यही नहीं इसमें प्रत्येक एओयू के लिए 'कमीशन' लिया जाता था. इस रकम को गोरखधंधे में लिप्त पीएनबी के कर्मचारियों के बीच बांटा जाता था. रिपोर्ट के अनुसार बैंक अधिकारियों ने यह भी खुलासा किया कि उन्होंने अपने अकाउंट के विवरण और पासवर्ड नीरव के कर्मचारियों को मुहैया कराए थे. इसकी मदद से वे स्विफ्ट सिस्टम में बतौर पीएनबी अधिकारी प्रवेश कर अधिकृत व्यक्ति के तौर पर फर्जी तरीके से स्विफ्ट संदेश भेजते थे.

 इस मामले में कम से कम आधा दर्जन अन्य पीएनबी कर्मचारियों के नाम बताए, जो इस फर्जीवाड़े में शामिल थे. एलओयू के जरिये जुटाई गई रकम का इस्तेमाल आरोपी कंपनियों के आयात बिलों के भुगतान में किया जाता था. अब सीबीआई बैंकों द्वारा जारी या स्वीकृत सभी एलओयू की जांच करेगा.
First published: 19 February 2018, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी