Home » बिज़नेस » Price of two wheelers to hike upto Rs. 5000 from April 1, 2017
 

नए वित्त वर्ष से 5,000 रुपये तक बढ़ जाएंगी दोपहिया वाहनों की कीमतें

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 March 2017, 16:48 IST

जो भी व्यक्ति नया दोपहिया वाहन खरीदने की सोच रहे हैं उनके लिए फायदे का सौदा यह होगा कि वे 31 मार्च 2017 तक ही इसे खरीद लें. इसका कारण यह कि आगामी 1 अप्रैल 2017 से देश के सभी दोपहिया वाहन निर्माता वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी करने जा रहे हैं.

दोपहिया वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी का कारण नए वित्त वर्ष यानी 1 अप्रैल 2018 से भारत स्टेज 4 (BS 4) एमिशन नॉर्म्स को अनिवार्य रूप से लागू करना है.

आगामी 1 अप्रैल 2017 में लॉन्च होने वाले सभी दोपहिया वाहन BS 4 इंजन के साथ आएंगे. नए नियम के साथ बनने वाले वाहन की कीमत ज्यादा होगी और यह बोझ कंपनी ग्राहकों पर डाल रहीं हैं.

हीरो मोटोकार्प के एक प्रवक्ता ने बताया कि हमारे‍ ज्‍यादातर मॉडल्‍स BS 4 पर शि‍फ्ट हो गए हैं और BS 4 वाले मॉडल्‍स का प्रोडक्‍शन शुरू कर दि‍या गया है. इन अतिरिक्त फीचर्स की वजह से स्कूटरों और मोटरसाइकि‍लों की कीमतों में 1,500 रुपये तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

वहीं, बजाज ऑटो ने भी अपने वाहनों की कीमतों में वृद्धि के संकेत दे दिए हैं. कंपनी की ओर से कहा गया कि कीमतों में बढ़ोतरी लागत ज्‍यादा होने और पूरी पोर्टफोलि‍यो को BS 4 एमि‍शन लेवल पर लेकर जाने की वजह से होगी. टॉप मॉडल्स के हिसाब से कीमतों में 5,000 रुपये तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

सोसाइटी ऑफ इंडि‍या ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) के मुताबिक 1 अप्रैल 2017 तक 7.5 लाख दोपहिया, 75 हजार व्यावसायिक वाहन, 45 हजार थ्री व्‍हीलर्स और 20 हजार पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की पेंडिंग इन्‍वेंटरी रहने की उम्‍मीद है. ये सभी वाहन बढ़ी हुई कीमतों के साथ ही मार्केट में उतरेंगे.

First published: 15 March 2017, 16:48 IST
 
अगली कहानी