Home » बिज़नेस » Flashback 2018 : Prime Minister Narendra Modi’s foreign tour bill: Rs 2,021 crore
 

Flashback 2018 : मोदी के विदेश दौरों पर खर्च 2000 करोड़, लेकिन निवेश कितना आया ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2018, 17:02 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राएं बीते चार सालों में विपक्ष के निशाने पर रही. समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं में चार्टर्ड उड़ानों पर 2,021 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आयी है. रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री के रूप में जब 2009 से 2014 तक यूपीए -2 सत्ता में थी, तब प्रधानमंत्री मनमोहन के की यात्राओं की यह लागत 1,346 करोड़ रुपये थी.

मोदी ने इस दौरान 48 यात्राओं में 55 से अधिक देशों का दौरा किया, जबकि मनमोहन ने 38 विदेशी यात्राओं में 33 देशों का दौरा किया. राज्यसभा में सवालों का जवाब देते हुए विदेश राज्य मंत्री वी.के. सिंह ने गुरुवार को बताया कि मोदी 2014 के बाद से पीएम मोदी ने ऐसे 10 देशों की यात्रा की जहां से को सबसे अधिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश प्राप्त हुआ.

केंद्र ने गुरुवार को राज्यसभा को बताया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 35.94 करोड़ रुपये की चार यात्राओं के लिए चार्टर्ड उड़ानों के लिए बिल धन की कमी के कारण तय नहीं किए गए हैं. इनमें स्वीडन, यूनाइटेड किंगडम और अप्रैल में जर्मनी, मई में रूस, मई में इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर और जून में चीन शामिल हैं.

कांग्रेस सांसद संजय सिन्हा ने उन देशों की जानकारी मांगी थी जहां प्रधानमंत्री ने दौरा किया था और उन देशों से आने वाले निवेश का आंकड़ा पेश करने को कहा था.

राज्यमंत्री ने कहा कि देश का वार्षिक एफडीआई 2014 में 30,930.5 मिलियन डॉलर से बढ़कर 2017 में 43,478.27 मिलियन डॉलर हो गया है. 2014 और जून 2018 के बीच संचयी एफडीआई 136,077.75 मिलियन डॉलर रहा, जबकि 2011 से 2014 के बीच यह 81,843.71 मिलियन डॉलर था. हालांकि राज्य मंत्री से सवाल का पूरा जवाब नहीं मिला.

सांसद ने विदेश यात्राओं के दौरान दोनों प्रधानमंत्रियों (मोदी और मनमोहन) के साथ गए व्यक्तियों, आधिकारिक और गैर-आधिकारिक लोगों के नाम और पदनाम के साथ प्रत्येक यात्रा पर उद्देश्य और कुल व्यय की मांग की थी. मंत्री वी.के. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्रियों के साथ आने वाले अधिकारियों पर मांगी गई जानकारी संवेदनशील होती है इसलिए उसे संलग्न नहीं किया जा सकता है."

सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार 15 जून 2014 से 3 दिसंबर, 2018 के बीच प्रधानमंत्री के विमानों पर 1,583.18 करोड़ रुपये और चार्टर्ड उड़ानों पर 429.25 करोड़ रुपये खर्च किए गए. हॉटलाइन पर कुल खर्च रुपये 9.11 करोड़ रुथा. हालांकि इसमें 2017-18 और 2018-19 में मोदी की विदेश यात्राओं के दौरान हॉटलाइन सुविधाओं पर खर्च शामिल नहीं है.

ये भी पढ़ें : Flashback 2018 : इस साल पकड़ी गई इतने करोड़ की GST चोरी, आंकड़ा हैरान करने वाला

First published: 29 December 2018, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी