Home » बिज़नेस » Probe Health Hazards Posed By Bank Notes Traders To Jaitley
 

नोटों से हो रही हैं गंभीर बीमारियां, अरुण जेटली से कैट ने की जांच कराने की मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 September 2018, 22:04 IST

नोटों में बैक्टीरिया पाए जाने संबंधी खबरें आने के बाद व्यापारियों के संगठन कैट वित्त मंत्री अरुण जेटली को एक पत्र लिखा. इस पत्र में उन्होंने नोटों से स्वास्थ्य संबंधी खतरा पैदा होने वाली खबरों का हवाला देते हुए लिखा इस संबंध में जांच करने का आग्रह किया है. इसी के साथ संगठन ने लोगों को करंसी नोट के जरिए होने वाली बीमारियों से बचाने के लिए कारगर उपाय करने की वित्त मंत्र से अपील की है.

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से भी मामले पर तुरंत संज्ञान लेने का अनुरोध किया है. पत्र में संगठन ने विभिन्न अध्ययनों के निष्कर्ष का हवाला देते हुए दावा किया है कि नोटों में बैक्टीरिया पाए गए हैं, जो बीमारियां फैलाते हैं और इनसे पेट खराब होना, टी.बी और अल्सर जैसी अन्य बीमारियां का खतरा हो सकता है.

वहीं कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल का कहना है कि हर साल इस तरह की रिपोर्ट विज्ञान पत्रिकाओं में प्रकाशित होती है, लेकिन दुख की बात ये है कि स्वास्थ्य संबंधी जोखिम पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता. उन्होंने कहा की देश में व्यापारी वर्ग मुद्रा नोट का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करता है, क्योंकि अंतिम उपभोक्ता से उसका सीधा संपर्क होता है और यदि यह शोध रिपोर्ट सत्य हैं, तो यह व्यापारियों के स्वास्थ्य के लिए घातक है. इसी के साथ ये उपभोक्ताओं को भी प्रभावित करेगा.

ये भी पढ़ें- PM मोदी को याद आए स्कूली दिन, कहा - विधायक बनने से पहले नहीं था कोई बैंक खाता

First published: 2 September 2018, 22:01 IST
 
अगली कहानी