Home » बिज़नेस » Punjab and Maharashtra Cooperative Bank Customers can be withdrawn just one thousand rupees in six month
 

RBI का आदेश, बैंक से 6 महीने में मात्र 1000 ही निकाल पाएंगे खाताधारक, मचा हंगामा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2019, 15:11 IST

बैंक में अकाउंट रखने वाले लोगों के लिए ये जरूरी खबर है. क्योंकि अब बैंक में जमा आपके पैसों को आप अपने मन मुताबिक नहीं निकाल पाएंगे. क्योंकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक को लेकर ये आदेश जारी किया है कि अब ग्राहक 6 महीने में सिर्फ 1000 रुपये ही अपने खाते से निकाल पाएंगे. हालांकि ये नियम सिर्फ पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक के ग्राहकों के लिए है. इसलिए किसी अन्य बैंक के ग्राहकों को इस आदेश के बाद घबराने की जरूरत नहीं है.

आरबीआई के अलावा भी बैंक की ओर से ये मैसेज ग्राहकों को भेजा गया है. इसी के साथ बैंक की ब्रांच के बाहर भी ये निर्देश लिख दिए गए हैं. इस आदेश से गुस्साए ग्राहकों ने मुंबई में बैंक की ब्रांच के सामने जोरदार हंगामा शुरू कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अनियमितता बरतने के आरोप में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मुंबई स्थित पंजाब एंड महाराष्ट्र सहकारी बैंक पर छह महीने का प्रतिबंध लगाया है, लेकिन RBI ने साफ कहा है कि पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं किया जाएगा.

रिजर्व बैंक की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि, बैंकिंग रेग्युलेशन की धारा 35 A के सब सेक्शन 1 के तहत बैंक पर नए लोन जारी करने और बिजनेस को लेकर पूरी तरह से रोक लगा दी है. इसके साथ ही PMC Bank के सभी लेनदेन पर नजर रखने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. जिसका असर खाताधारकों पर भी पड़ने वाला है. इसके तहत खाताधारक अपने सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट या किसी भी अन्य जमा खाते से 6 महीने में 1,000 हजार से अधिक पैसे नहीं निकाल सकेंगे.

 

इसी के साथ बैंक के ग्राहकों पर नई राशि जमा पर भी रोक लग गई है. इस आदेश के बाद ग्राहक अब नई FD भी नहीं करा सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैंक पर कई बार अनियमितता का आरोप लगा है. बैंक पर खराब कॉर्पोरेट गवर्नेंस को लेकर भी सवाल उठ चुके हैं.

रिजर्व बैंक ने कहा है कि मुंबई स्थित पीएमसी बैंक को बैंकिंग से संबंधित लेनदेन करने से पहले रिजर्व बैंक से लिखित में मंजूरी लेनी होगी. यानी आरबीआई की बिना मंजूरी के कोई भी लोन मंजूर या आगे नहीं बढाया जा सकेगा. साथ ही बैंक अपनी मर्जी से कही निवेश भी नहीं कर सकता है.

WhatsApp पर चलाइये अपना HDFC बैंक खाता, पता कीजिये ये सारी जानकारियां

First published: 24 September 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी