Home » बिज़नेस » Punjab businessmen and whole family passport of cancelled on bank plea, its first case in the country
 

253 करोड़ का NPA: देश में पहली बार किसी बिजनेसमैन और उसकी पूरी फैमिली का पासपोर्ट हुआ रद्द

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 September 2018, 19:06 IST
(file photo )

पिछले कुछ समय में करोड़ों रुपये का कर्ज लेने के बाद विदेश भागने के मामलों में आई बढ़ोतरी के बाद देश के बैंक सतर्क हो गए हैं. बैंक की शिकायत के बाद क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने एक कारोबारी और उसके पूरे परिवार का पोसपोर्ट रद्द कर दिया है. व्यापारी पर विभिन्न बैंकों का 253 करोड़ का कर्ज है. व्यापारी पर बैंकों का करोड़ों रुपये का लोन नॉन परफॉर्मिंग एसेट (एनपीए) घोषित हो चुका है.

मीडिया खबरों के मुताबिक, कुलविंदर सिंह मखानी नाम के व्यापारी पर विभिन्न बैंकों का 253 करोड़ का कर्ज है. मखानी ने अपनी दो फर्म के लिए विभिन्न बैंकों से कर्ज ले रखा है. मखानी पर कर्ज का पैसा एनपीए घोषित हो गया है. केनरा बैंक ने मखानी के खिलाफ पासपोर्ट दफ्तर में शिकायत की थी. जिसमें कहा गया था कि कुलविंदर मखानी और उनकी पत्नी जसमीत विदेश भाग सकती हैं. केनरा बैंक की शिकायत पर पोसपोर्ट ऑफिस ने ये कार्रवाई की. व्यापारी को शादी में शरीक होने के लिए कनाडा जाना था. लेकिन पासपोर्ट रद्द होने के चलते वह ऐसा नहीं कर पाया.

file photo

पासपोर्ट रद्द होने के फैसले के खिलाफ मखानी ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया. मखानी ने 17 सितंबर को हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी. जिस पर सुनवाई के दौरान पासपोर्ट कार्यालय की तरफ से कहा गया कि देशहित में कारोबारी का पासपोर्ट रद्द किया जाना जरूरी था.

पासपोर्ट ऑफिस के वकील असिस्टेंट सॉलिसीटर जनरल चेतन मित्तल ने अदालत को बताया कि केनरा बैंक ने शिकायत में कहा था कि मखानी परिवार ने बैंकों से 253 करोड़ कर्ज लिया.  इन लोगों ने स्टॉक डायवर्ट कर रखा है. रिवकरी भी नहीं हो पाई है. मखानी के द्वारा लिया गया कर्ज एनपीए घोषित कर दिया गया है. इसको देखते हुए आशंका है कि वह अपने परिवार के साथ विदेश भाग सकता है. हाईकोर्ट ने रीजनल पासपोर्ट दफ्तर से 27 सितंबर तक जवाब मांगा है. 

ये भी पढ़ें- इन 6 बैकों को छोड़कर बंद हो जाएंगे सारे बैंक, क्या होगा आपके बैंक का !

First published: 21 September 2018, 19:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी