Home » बिज़नेस » Railway ministry plans to shut down Gareeb Rath trains, replace it with Mail or Express
 

नहीं कर पाएंगे AC ट्रेन में सस्ता सफर, गरीब रथ हो जाएंगी बंद, लालू यादव ने चलाई थी ये ट्रेन

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2019, 19:03 IST

गरीबों को सस्ते दर में लग्जरी यात्रा कराने वाला गरीब रथ जल्द ही बीते दिनों की बात हो जाएगी. भारतीय रेलवे गरीब रथ एक्सप्रेस बहुत जल्द देशभर में संचालित हो रही गरीब रथ एक्सप्रेस को बंद करने जा रहा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक गरीब रथ ट्रेन के लिए नए कोच या डिब्बे बनाने पर रोक का आदेश पहले ही जारी किया जा चुका है.

केंद्र सरकार गरीब रथ ट्रेन की जगह मेल या एक्सप्रेस ट्रेन चलाएगी. रेल मंत्रालय सस्ते दर पर वातानुकूलित यात्रा (एसी कोच) कराने के लिए कई कदम उठा रही है, इन ट्रेन को बंद करना भी इसी कड़ी का एक हिस्सा है. गौरतलब है कि तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने साल 2006 में गरीब रथ एक्सप्रेस को शुरू किया था तब इसकी खूब चर्चा हुई थी. गरीब और कम आय वाले यात्रियों के लिए एसी में आरामदायक यात्रा मुहैया कराने के लिए गरीब रथ एक्सप्रेस उपर्युक्त साधन थी.

मोदी सरकार की शानदार स्कीम, करें मात्र 135 रुपये रोजाना निवेश, मिलेगी 50 हजार रुपये मासिक पेंशन

रेलवे ने काठगोदाम- जम्मू और काठगोदाम- कानपुर गरीब रथ ट्रेन को बंद कर मेल एक्सप्रेस ट्रेन से बदला जा चुका है. गरीब रथ के बंद होने और मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के चलाए जाने का मतलब है कि रेल किराया भी बढ़ जाएगा. आम लोगों की जेब पर इसका सीधा असर पड़ेगा. उदाहरण के तौर पर अगर आप दिल्ली से बांद्रा (मुंबई) की यात्रा गरीब रथ से करते हैं तो आपको करीब 1020 रुपये देने होंगे. जबकि मेल या एक्सप्रेस ट्रेन में जाने पर आपको 1500-1600 रुपये का भुगतान करना होगा.

रेलवे के सूत्रों के मुताबिक चूंकि गरीब रथ ट्रेन के कोच बनने पहले से ही बंद हो गए हैं इसलिए धीरे-धीरे इसे बंद ही करना पड़ेगा. वर्तमान में जो भी गरीब रथ हैं वो 10-14 साल पुरानी हैं. ऐसे में पुराने डिब्बों का रखरखाव भी रेलवे के लिए बड़ा सिरदर्द और चुनौती है. फिलहाल 26 जोड़े गरीब रथ ट्रेन चल रही हैं.

First published: 18 July 2019, 19:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी