Home » बिज़नेस » Railway releases new guideline on ticket cancellation of train and money refund
 

ट्रैन कैंसिल हो जाए तो रिफंड की ना करें चिंता, ऐसे वापस आएगा आपका पैसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2018, 11:37 IST

ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने खुश करने वाली खबर दी है. ये खबर ट्रेन के कैंसिल होने और टिकट के पैसे रिफंड को लेकर है. दरअसल, रेलवे ने यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए ये एलान किया है कि ट्रेन के रद्द होने पर यात्रियों को पूरा पैसा वापस कर दिया जाएगा. इसके लिए उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. यात्रियों का पैसा उसी अकाउंट में वापस कर दिया जाएगा, जिससे टिकट बुकिंग के दौरान पेमेंट किया गया था.

बता दें कि पहले यात्रियों को ट्रेन के रद्द होने पर टिकट का पैसा रिफंड के लिए काफी इंतजार करना पड़ता था. अब नए नियम के तहत ट्रेन के रद्द होने पर पीएनआर (पैसेंजर नेम रिकॉर्ड) भी खुद ही रद्द हो जाएगा. इसी के साथ तत्काल टिकट बुक कराने के नियमों में भी बदलाव किया गया है.

इस नियम के तहत इमरजेंसी की हालत में तत्काल टिकट लेने वाले यात्रियों के लिए नए नियम बनाए गए हैं. इस नियम के तहत यात्री को अपनी यात्रा के एक दिन पहले टिकट बुक कराना होगा. वहीं एसी कोच के टिकट की बुकिंग 10 बजे से शुरू होगी, जबकि जनरल टिकट के लिए 11 बजे से बुकिंग शुरू होगी. इसके साथ ही अगर तय समय से 3 घंटे तक ट्रेन नहीं चलती तो यात्री ट्रेन के किराए और तत्काल की चार्ज वापसी का दावा कर सकते हैं.

इन मामले में मिलेगा पूरा रिफंड

वहीं अगर ट्रेन का रूट डायवर्ट किया जाता है और यात्री को उस रूट से यात्रा करना पसंद नहीं है तो पैसेंजर पूरे रिफंड का दावा कर सकते हैं. अगर पैसेंजर को ट्रेन की लोअर क्लास में शिफ्ट किया जाता है और पैसेंजर को उस क्लास में यात्रा करना पसंद नहीं है तो वह पूरा रिफंड ले सकता है. अगर पैसेंजर लोअर क्लास में यात्रा के लिए तैयार हो जाता है तो उसे टिकट के किराए का अंतर का पैसा वापस कर दिया जाएगा.

 

ट्रेन छूटने के 24 घंटे पहले कर सकते हैं टिकट ट्रांसफर

इसी साल मार्च में रेलवे ने घोषणा की थी कि अगर कोई व्यक्ति अपने कंफर्म टिकट पर किसी परेशानी की वजह से यात्रा नहीं करना चाहता है तो वह अपने कंफर्म टिकट को अन्य व्यक्ति को ट्रांसफर कर सकता है. रेलवे ने कंफर्म टिकट को ट्रांसफर करवे के संबंध में दिशा-निर्देश भी दिए हैं. जिस यात्री के नाम पर कोई सीट या बर्थ है, रेलवे प्रशासन ने यात्री के नाम बदलने की अनुमति महत्वपूर्ण स्टेशनों के चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर को दे दी है.

निर्देशों के अनुसार यात्री अपने कंफर्म टिकट को अपने माता-पिता, भाई-बहन, पत्नी या बच्चों को ट्रांसफर कर सकता है. इसके लिए उन्हें ट्रेन छूटने से 24 घंटे पहले लिखित में अनुरोध करना होगा. अगर किसी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान का कोई छात्र अपने टिकट को ट्रांसफर करना चाहता है तो उसे अपने संस्थान के हेड की मंजूरी लेनी होगी. उसके बाद ही टिकट को ट्रांसफर किया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें- RRB 2018: रेलवे ने निकाली स्टेशन मास्टर, गुड्स गार्ड के पदों पर बंपर वैकेंसी, जल्द करें अप्लाई

First published: 6 May 2018, 11:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी