Home » बिज़नेस » Rains Support RBI Rate Cut : BoA-ML
 

'बेहतर मानसून से ब्याज दरों में हो सकती है 25 आधार अंकों की कटौती'

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2016, 17:12 IST
QUICK PILL
  • बैंक ऑफ अमेरिका-मेरिल लिंच की रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर दाल की कीमतों में गिरावट आती है और इससे महंगाई को थामने में मदद मिलती है तो केंद्रीय बैंक ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर सकता है. 
  • जून की नीतिगत समीक्षा में आरबीआई गवर्नर ने ब्याज दर को अपरिवर्तित रखा था. महंगाई की वजह से राजन ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था. हालांकि उन्होंने बेहतर मानसून को देखते हुए आने वाले समय में ब्याज दरों में कटौती के संकेत दिए थे.
  • रिपोर्ट में जुलाई में खुदरा महंगाई दर के 6 फीसदी रहने की संभावना जाहिर की गई है. बढ़ती महंगाई की वजह से आरबीआई ब्याज दरों में कटौती करने के पक्ष में नहीं रहा है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) अगले महीने होने जा रही समीक्षा बैठक में ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर सकता है. बैंक ऑफ अमेरिका-मेरिल लिंच की रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर दाल की कीमतों में गिरावट आती है और इससे महंगाई को थामने में मदद मिलती है तो केंद्रीय बैंक ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर सकता है. 

रिपोर्ट में जुलाई में खुदरा महंगाई दर के 6 फीसदी रहने की संभावना जाहिर की गई है. बढ़ती महंगाई की वजह से आरबीआई ब्याज दरों में कटौती करने से बचता रहा है.

बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच की रिपोेर्ट बताती है, 'अगर बेहतर बारिश से दाल की फसल को बढ़त मिलती है और इसकी कीमतों में गिरावट आती है तो अगस्त महीने में आरबीआई ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर सकता है.'

आरबीआई बढ़ती महंगाई की वजह से ब्याज दरों में कटौती के पक्ष में नहीं रहा है.

रिपोर्ट बताती है कि खुदरा महंगाई दर 6 फीसदी रही है जो कि आरबीआई के मार्च 2017 के तय लक्ष्य 5 फीसदी से अधिक है. इसकी वजह गर्मियों के दौरान रबी की खराब फसल रही. 

इसमें कहा गया है कि मौद्रिक नीति को निश्तिच तौर पर भविष्य की नीतियों के मुताबिक होना चाहिए. रिपोर्ट में कहा गया है, 'हम उम्मीद करते हैं कि आरबीआई बेहतर मानसून के कारण पर विचार करेगा जिससे दाल की कीमतों में गिरावट आएगी.'

बेहतर मानसून से मिलेगी मदद!

दो साल के सूखे के बाद 2016 में मानसून के सामान्य से अधिक रहने की भविष्यवाणी की गई थी. अभी तक मानसून सामान्य रहा है और यह पिछले साल के मुकाबले बेहतर रहा है. पिछले साल इस अवधि में 86 फीसदी बारिश हुई थी.

अभी तक दाल की कीमतों में करीब 40 फीसदी से अधिक की तेजी आई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि  बारिश की वजह से नदियों का जल स्तर 4.6 फीसदी अधिक हो चुका है.

बैंक ऑफ अमेरिका-मेरिल लिंच ने मार्च 2017 के लिए सीपीआई महंगाई दर के अनुमान को 5.7 फीसदी से घटाकर 5.1 फीसदी कर दिया है. जून महीने में महंगाई दर 4.8 फीसदी रही थी.

जून की नीतिगत समीक्षा में आरबीआई गवर्नर ने ब्याज दर को अपरिवर्तित रखा था. महंगाई की वजह से राजन ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था. हालांकि उन्होंने बेहतर मानसून को देखते हुए आने वाले समय में ब्याज दरों में कटौती के संकेत दिए थे.

First published: 25 July 2016, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी