Home » बिज़नेस » RBI again issues guidelines on one and ten rupees coin if not taking than will send to jail
 

सावधान: एक और 10 रुपये का सिक्का नहीं लिया तो आपको जाना पड़ सकता है जेल, जानें क्यों

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 February 2019, 13:11 IST

पिछले दो सालों से दस रुपये के सिक्के ना लेने की बात कई बार सामने आती रही हैजिसके लिए आरबीआई भी गाइड लाइन जारी कर चुका है कि मार्केट में मौजूद दस रुपये के सभी तरह के सिक्के वैध है. अगर इन सिक्कों को कोई भी व्यक्ति लेने से इंकार करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है. बावजूद इसके इन सिक्कों को लेने से इंकार करने की खबरों पर रोक नहीं लगी. इसी बीच एक रुपये का सिक्का ना लेने की भी बात सामने आ रही है. बता दें कि कई लोग और दुकानदार इनदिनों एक रुपये का छोटा सिक्का लेने से इंकार कर देते हैं.

इन दोनों सिक्कों को लेकर सरकार का कहना है कि सभी सिक्के वैध हैं. देश की राजधानी दिल्ली से महज 100 किलोमीटर दूर रेवाड़ी में 10 रुपये का कोई भी सिक्का नहीं लिया जा रहा है. बता दें कि दिल्ली एनसीआर में भी सभी सिक्के आसानी से स्वीकार नहीं किए जा रहे हैं.

देशभर से एक रुपये और दस रुपए के सिक्के ना लेने की तमाम खबरें आ चुकी हैं. बावजूद इसके इस तरह की खबरों पर अभी भी रोक नहीं लग पा रही है. क्योंकि कि अक्सर लोग एक रुपये का छोटा सिक्का और दस रुपये के बिना रुपये के चिह्न वाले सिक्को को लेने से इंकार कर देते हैं. बैंक अधिकारी बताते हैं कि साल 2016 के नवंबर में जब नोटबंदी हुई, तब बाजार में बड़े पैमाने पर सिक्के उतारे गए थे. उन सिक्कों को जब वापस बैंकों में जमा किया जाने लगा तो बैंक कर्मचारी उसे लेने में आना कानी करने लगे.

तब बैंक कर्मियों का कहना था कि नोटों को तो मशीन से गिन लिया जाएगा, लेकिन हजारों हजार सिक्कों को कौन गिनेगा. वैसे भी बैंक में कर्मचारियों की किल्लत है, ऐसे में एक ग्राहक का सिक्का गिनने में एक घंटा लगेगा, तो काउंटर पर ग्राहकों की लंबी लाइन लग जाएगी.

इस मामले में अब रिजर्व बैंक के प्रवक्ता का कहना है कि जो भी सिक्के जारी किए गए हैं, वह रिजर्व बैंक के नियम के तहत जारी किए गए हैं. इसलिए सभी सिक्के वैध हैं. यदि कोई व्यक्ति या बैंक इसे लेने से इनकार करता है तो उसकी सूचना पुलिस को दी जानी चाहिए, ऐसा करना अपराध है. बता दें कि रिजर्व बैंक की ओर से किसी वैध सिक्के को लेने से इंकार करने वाले शख्स को सात साल जेल की सजा हो सकती है.

ये भी पढ़ें- पेट्रोल की कीमतों में हुई इतनी कटौती, डीजल के दाम में नहीं हुआ कोई बदलाव

First published: 9 February 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी