Home » बिज़नेस » RBI cuts repo rate by 25 basis points to 6.5%
 

आरबीआई के ब्याज दरों में कटौती से बाजार में कोहराम

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2016, 16:53 IST
QUICK PILL
  • बाजार को आरबीआई से ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद थी लेकिन आरबीआई की घोषणा के बाद बाजार में बिकवाली शुरू हो गई है.
  • सेक्स 516.06 अंकों की गिरावट के साथ 24,883.59 पर और निफ्टी 155.60 अंकों की गिरावट के साथ 7,603.20 पर बंद हुआ.
  • भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गर्वनर रघुराम राजन ने मंगलवार को मौद्रिक समीक्षा नीति की समीक्षा बैठक रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की है. कटौती के बाद रेपो रेट 6.75 से घटकर 6.50 फीसदी हो गया है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गर्वनर रघुराम राजन ने मंगलवार को मौद्रिक समीक्षा नीति की समीक्षा बैठक रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की है.

रेपो रेट घटने के बाद अब यह 6.75 से घटकर 6.50 फीसदी हो गया है. रेपो रेट वह दर होती है जिस दर पर अन्य बैंक रिजर्व बैंक से कर्ज लेते हैं. आरबीआई के घोषणा के बाद बैंक जल्द ही लोन सस्ता कर सकते हैं. रिवर्स रेपो दर में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है.

आरबीआई ने बैंक दर में 0.75 फीसदी की कटौती की है जबकि सीआरआर चार फीसदी पर स्थिर रखने का फैसला किया है.

आरबीआई के मुताबिक, वित्त वर्ष 2016-17 में रिटेल महंगाई दर यानि सीपीआई 5 फीसदी रहने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी ग्रोथ 7.6 फीसदी रहने का अनुमान है.

रघुराम राजन ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वृद्धि के अनुमान में कोई बदलाव न करते हुए उसे 7.6 फ़ीसदी ही रखा है.

आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि लिक्विडिटी के नियम आसान कर दिए हैं और अगर जरूरत पड़ी तो दरें और घटा सकते हैं. राजन ने उम्मीद जताई है कि अब बैंकों की ओर से भी ब्याज दरों में कटौती देखने को मिल सकती है.

बाजार में कोहराम

बाजार को आरबीआई से ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद थी लेकिन आरबीआई की घोषणा के बाद बाजार में बिकवाली शुरू हो गई है. सेक्स 516.06 अंकों की गिरावट के साथ 24,883.59 पर और निफ्टी 155.60 अंकों की गिरावट के साथ 7,603.20 पर बंद हुआ.

सबसे ज्यादा पिटाई बैंकिंग शेयरों की हुई है. एसऐंडपी बैंकेक्स में जबरदस्त 450 अंकों की गिरावट आई है. सबसे ज्यादा कमजोरी आईसीआईसीआई के शेयरों में देखने को मिल रही है. बीएसई में आईसीआईसीआई का शेयर करीब 5 फीसदी तक टूट चुका है.

ब्याज दरों पर आधारित ऑटो सेक्टर ने भी आरबीआई की घोषणा को सकारात्मक तरीके से नहीं लिया है. बीएसई ऑटो इंडेक्स में भी करीब 325 अंकों की गिरावट आई है. वहीं एनएसई में 47 शेयर लाल निशान में जबकि महज 4 शेयर हरे निशान में कारोबार कर रहे हैं.

First published: 5 April 2016, 16:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी