Home » बिज़नेस » RBI ने रोक दिया इन दो महिला बैंकरों का करोड़ों का बोनस, ये है वजह
 

RBI ने रोक दिया इन दो महिला बैंकरों का करोड़ों का बोनस, ये है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2018, 17:40 IST

भारत में बैंकिंग नियामक (आरबीआई) शीर्ष निजी बैंकों के प्रमुखों के सालाना बोनस देरी कर रहा है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट की माने तो आरबीआई इन बैंको के प्रदार्शन को देखकर ऐसा कर रहा है. बीते दिनों पीएनबी मामले के बाद भी कई निजी बैंकों पर भी सवाल उठे थे. इनमे एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड और एक्सिस बैंक लिमिटेड के चीफ एक्ज़ीक्यूटिव ऑफिसर्स शमिल हैं.

इन्हे 31 मार्च 2017 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए बोनस मिलना था लेकिन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने प्रस्तावित भुगतानों पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं. आईसीआईसीआई के बोर्ड ने सीईओ चंदा कोचर के लिए 2 करोड़ रुपये ($ 340,000) का बोनस अनुमोदित किया था जबकि एक्सिस बैंक की शिखा शर्मा को 1.35 करोड़ रुपये और एचडीएफसी बैंक के आदित्य पुरी को 2.9 करोड़ रुपये बोनस के रूप में मिले थे.

 

गौरतलब है कि भारत के निजी बैंकों के लिए पिछले एक साल का समय बेहद मुश्किल रहा, जिसमे लोन को लेकर कारपोरेट से मिलीभग जैसे मामले सामने आये. मार्च 2017 को समाप्त हुए वर्ष में - जो बोनस विवादों में हैं, उसको लेकर एक आरबीआई ऑडिट ने दिखाया है कि एक्सिस बैंक ने 5,600 करोड़ रुपये के बैड लोन का खुलासा नहीं किया.

मार्च 2017 को खत्म हुए वर्ष के दौरान मुंबई में एक्सिस बैंक के शेयरों में करीब 10% और आईसीआईसीआई में 17% की बढ़ोतरी हुई.

ये भी पढ़ें : अपनी ही सड़कों पर जंग हार रही है बजाज, बंद होने की कगार पर छोटी पल्सर

First published: 6 April 2018, 17:32 IST
 
अगली कहानी