Home » बिज़नेस » RBI figure: post- demonetisation currency in circulation figure at record over Rs 19.3 lakh crore
 

नोटबंदी के बाद करेंसी सर्कुलेशन पहुंचा 19 लाख करोड़ से ऊपर के रिकॉर्ड स्तर पर

सुनील रावत | Updated on: 10 June 2018, 16:49 IST

भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक नोटबंदी के बाद करेंसी सर्कुलेशन अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुका है. आरबीआई के ताजा आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में 19.3 लाख करोड़ रुपये से अधिक की करेंसी सर्कुलेशन में है. यह नोटबंदी के बाद लगभग 8.9 लाख करोड़ रुपये हो गई थी.

एक रिपोर्ट के अनुसार करेंसी सर्कुलेशन को लेकर आरबीआई द्वारा 1 जून 2018 जारी आंकड़ों के अनुसार 19.3 लाख करोड़ रुपये की करेंसी वर्तमान में सर्कुलेशन में हैं. नोटबंदी के बाद 6 जनवरी 2017 को यह 8.9 लाख करोड़ रुपये के निचले स्तर से दो गुना ज्यादा हैं.

कुछ महीनों पहले देश के विभिन्न हिस्सों नकदी का संकट सामने आया था. सरकार को डर था कि विभिन्न कारणों से बड़ी मात्रा में लोग नकदी जमा कर रहे हैं. 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी से पहले सर्कुलेशन में करेंसी लगभग 86 प्रतिशत हिस्सा था. इसके बाद सरकार ने 500 और 1,000 बैंक नोट्स को अवैध घोषित कर दिया था.

जनता ने बैंकों में बड़ी मात्रा में रकम जमा की थी. आंकड़ों के अनुसार इसमें से 99 प्रतिशत प्रतिबंधित नोट सिस्टम में वापस आ गए. भारतीय रिजर्व बैंक के नए आंकड़ों के अनुसार 30 जून 2017 तक 15.44 लाख करोड़ में से 98.9 6 प्रतिशत या 15.28 लाख करोड़ रुपये बैंकों में जमा कर दिए थे.

नोटबंदी के बाद आरबीआई ने 500 रुपये के नए नोटों के अलावा 2,000 रुपये और 200 रुपये के नए नोट पेश किये. हालिया नकद संकट के बाद सरकार ने घोषणा की थी कि 500 रुपये के नोटों की प्रिंटिंग को बढ़ाया जाएगा. हालांकि आरबीआई ने अभी तक सभी वापस किये गए नोटों के सत्यापन पर अंतिम जानकारी नहीं दी है.

ये भी पढ़ें : अब अमेरिकी एजेंसियों की रडार पर चंदा कोचर और ICICI बैंक, हो सकती है पूछताछ

First published: 10 June 2018, 16:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी