Home » बिज़नेस » RBI hikes repo rate by 25 bps to 6.5%, raises inflation projection
 

मॉनिटरी पॉलिसीः RBI ने बढ़ाया रेपो रेट, महंगा होगा लोन

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2018, 15:39 IST

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई की) मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी के कारण मुद्रास्फीति दबाव के चलते बुधवार को रेपो दरों को 25 बेसिस पॉइंट्स से 6.5 फीसदी कर दिया है. साथ ही भविष्य में दरों में बढ़ोतरी के लिए दरवाजा खुला रखा है.

आरबीआई के इस कदम के बाद बैंक अपने लोन की ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं साथ ही ईएमआई बढ़ने की आशंका है. आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि साल 2018-19 में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.4 फीसदी रहने का अनुमान है. 2019-20 की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.5  फीसदी रहने का अनुमान है.

आरबीआई ने वर्ष के दूसरे छमाही के लिए जून में 4.7% से 4.8% की औसत मुद्रास्फीति के अनुमान को भी बढ़ाया है. केंद्रीय बैंक को अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में मुद्रास्फीति 5% तक बढ़ने की उम्मीद है. गौरतलब है कि सरकार ने खरीफ फसलों के उत्पादन की लागत का 150% एमएसपी तय कर दिया है.

 

रिजर्व बैंक ने अपने वक्तव्य में कहा, "खरीफ फसलों के लिए एमएसपी में यह वृद्धि, पिछले कुछ वर्षों में देखी गई औसत वृद्धि से काफी बड़ी है, यह खाद्य मुद्रास्फीति पर प्रत्यक्ष प्रभाव डालेगी और प्रमुख मुद्रास्फीति पर दूसरे दौर के प्रभावों का असर होगा." आरबीआई की दर में बढ़ोतरी ने कच्चे तेल की कीमतों पर अपनी चिंताओं को भी उजागर किया है.

ये भी पढ़ें : अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के खिलाफ इंटरनेशनल अदालत में केंद्र सरकार हारी केस

First published: 1 August 2018, 15:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी