Home » बिज़नेस » RBI reduces repo rate from 4.4 to 4 percent, GDP expected to be negative
 

RBI ने दी खुशखबरी: 6 महीने तक EMI नहीं चुकाने पर भी लोन डिफॉल्ट नहीं होगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2020, 11:00 IST

भारत रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट में 40 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर इसे 4.4 प्रतिशत से 4 प्रतिशत कर दिया है. रिवर्स रेपो रेट घटकर अब 3.35 प्रतिशत हो गया है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कोरोना वायरस के वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान हुआ है, इसलिए उन्होंने MPC ने रेपो रेट में कटौती करने का फैसला किया है. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि मांग और उत्पादन में बड़ी कमी आई है. अप्रैल महीने में निर्यात में 60.3 प्रतिशत की कमी आई है.

 

उन्होंने बताया कि मार्च में औद्योगिक उत्पादन में 17 फीसदी की कमी दर्ज की गई है. कोर इंडस्टिरीज के आउटपुट में 6.5 फीसदी की कमी हुई है और मैन्युफेक्चरिंग में 21 फीसदी की गिरावट हुई है. उन्होंने कहा 31 अगस्त तक के लिए RBI ने टर्म लोन मोरटोरियम को बढ़ा दिया गया है. पहले यह 31 मई तक के लिए था. यानी इससे तीन महीने और बढ़ा दिया गया है. अब 6 महीने अगर आप अपनी EMI नहीं चुकाते हैं तो आपका लोन डिफॉल्ट या NPA नहीं माना जाएगा.


शक्तिकांत दास ने बताया कि 1 अप्रैल से 2020-21 के दौरान भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 9.2 बिलियन की वृद्धि हुई है. 15 मई तक विदेशी मुद्रा भंडार 487 बिलियन अमेरिकी डॉलर पर है. आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि 2020-21 में जीडीपी की वृद्धि नकारात्मक श्रेणी में बने रहने की उम्मीद है.

आज से आरक्षण काउंटरों और IRCTC एजेंट के जरिये बुक कर पाएंगे ट्रेनों के टिकट

First published: 22 May 2020, 10:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी