Home » बिज़नेस » RBI Reports says, Detection of fake Rs 50 and Rs 100 notes spiked the most in the 2017-18
 

RBI का खुलासा- 50 और 100 रुपये के नकली नोटों की संख्या में भारी इजाफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2018, 15:09 IST
(file photo )

चाहे दुकानदार हो या फिर आम नागरिक सभी 500 और 2000 रुपये के नोट को लेते समय उसके नकली और असली की पहचान जरूर करते हैं, लेकिन 50 रुपये और 100 रुपये का नोट नकली है या नहीं इसको शायद ही कोई देखता हो. इसी फायदा उठाकर लोग 50 रुपये और 100 रुपये के नकली नोट भारी मात्रा में चला रहे हैं. साल 2017-2018 में 50 रुपये और 100 रुपये के नकली नोटों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है. इसका खुलासा रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की एक रिपोर्ट में हुआ है.

RBI की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल कुल 5,22,783 (संख्या) नकली नोट पकड़े गए. इसमें से 63.9 फीसदी नकली करेंसी बैंकों ने पकड़ी. रिपोर्ट में कहा गया है कि इसमें सबसे ज्यादा प्रतिशत नकली नोटों की है. साल 2017-18 में 100 रुपये के नकली नोट में 35 फीसदी का इजाफा हुआ है. 2016-17 में 100 रुपये के 1,77,195 नकली नोट पकड़े गए थे. जो कि 2017-18 में बढ़कर 239,182 हो गए. वहीं, 50 रुपये के नकली नोटों की संख्या में 154.3 फीसदी की बढ़त आई है.

साल 2016 -17 में 50 रुपये के 9,222 नकली नोट पकड़े गए थे, जबकि 2017-18 में इनकी संख्या बढ़कर 23,447 हो गई.
इतना ही नहीं लोगों ने 200 रुपये के नकली नोट बनाने भी शुरू कर दिया है. बैंकों द्वारा अभी तक 200 रुपये के 79 नकली नोट पकड़े गए हैं. हालांकि नए 500 और 2000 रुपये के नकली नोटों की संख्या में भी इजाफा हुआ है. साल 2017-18 में 500 रुपये के 9,892 नकली नोट भी पकड़े गए हैं. वहीं, 2000 रुपये के पकड़े गए नकली नोटों की संख्या 17,929 है. 2017-18 में 2 रुपये का एक और 1 रुपये 4 नकली नोट पकड़े गए हैं.

ये भी पढ़ें-  नोटबंदी के बाद का हाल: जाली नोट बढे 79 %, संदिग्ध लेन-देन में 480 % का इजाफा

First published: 29 August 2018, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी