Home » बिज़नेस » RBI's big gift - now NEFT can transact 24x7
 

RBI का बड़ा तोहफा- अब 24x7 कर सकते हैं NEFT से लेनदेन, छुट्टी पर भी उपलब्ध

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2019, 11:23 IST

NEFT Timing :  भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (NEFT) की सुविधा को दिन में 24 घंटे और साल में 365 दिन मुहैया कराने का ऐलान किया है. अब तक आप केवल सुबह 8 बजे से शाम 6:30 बजे के बीच या जब बैंक खुले होते थे, पैसे ट्रांसफर कर सकते थे. एनईएफटी स्थानान्तरण अब आधे घंटे के बैचों में विभाजित किया गया है. चूंकि अंतिम एनईएफटी भुगतान बैच का निपटान आधी रात को समाप्त होता है, इसलिए आप 11:30 बजे के बाद अगले दिन 12:30 बजे अगले बैच की शुरुआत तक लेनदेन नहीं कर पाएंगे.

RBI ने NEFT मनी ट्रांसफर सुविधा को न केवल 24 घंटे, बल्कि वर्ष के सभी दिनों में उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है. अब तक NEFT की सुविधा बैंकिंग छुट्टियों पर उपलब्ध रहती थी और लोगों को ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के लिए भी बैंक शाखाओं के खुलने का इंतजार करना पड़ता था. अब तक एनईएफटी लेनदेन सुबह 8 से शाम 7 बजे के बीच होती थी. 


RBI का कदम भारत में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देगा. अब तक IMPS सुविधा ऑनलाइन 24x7 थी, लेकिन इसकी सीमा IM 2 लाख थी. बैंकिंग घंटों के बाद किए गए एनईएफटी लेनदेन को बैंकों द्वारा सीधे प्रसंस्करण (एसटीपी) मोड के माध्यम से स्वचालित किया जाएगा. आरबीआई ने कहा कि लाभार्थी के खाते में जमा करने या लेनदेन (संबंधित बैच के निपटान के 2 घंटे के भीतर) वापस करने का मौजूदा नियम जारी रहेगा.

RBI ने बैंकों से कहा है कि वे अपने ग्राहकों को बिना किसी बाधा के NEFT 24x7 सुविधा प्रदान करने के लिए सुनिश्चित करें. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक जैसे अधिकांश बैंक ऑनलाइन एनईएफटी हस्तांतरण के लिए कोई शुल्क नहीं लेते हैं. जुलाई में आरबीआई ने एनईएफटी और आरटीजीएस के माध्यम से फंड ट्रांसफर पर सभी शुल्कों को माफ कर दिया था. आरबीआई ने जनवरी 2020 से बैंकों को ग्राहकों के लिए सभी ऑनलाइन एनईएफटी लेनदेन मुफ्त करने के को कहा था.

इतनी रकम कर सकते हैं ट्रांसफर 

एनईएफटी हस्तांतरण के लिए कोई न्यूनतम सीमा नहीं है, लेकिन आम तौर पर इसका इस्तेमाल 2 लाख तक के फंड ट्रांसफर के लिए किया जाता है. बड़े लेनदेन के लिए RTGS का उपयोग किया जाता है. एनईएफटी की अधिकतम सीमाएं सभी बैंकों में भिन्न होती हैं और ग्राहक श्रेणी पर भी निर्भर करती हैं.

उदाहरण के लिए आईसीआईसीआई बैंक एनईएफटी को अधिकांश ग्राहकों के लिए 10 लाख तक स्थानांतरित करने की अनुमति देता है, लेकिन दूसरों के लिए यह एनईएफटी लेनदेन को 25 लाख तक की अनुमति दे सकता है. एचडीएफसी बैंक ने भी ऑनलाइन एनईएफटी लेनदेन के लिए 25 लाख की सीमा तय की है. SBI के पास खुदरा ग्राहकों के लिए 10 लाख रुपये की सीमा है.

इनकम टैक्स विभाग का अलर्ट- 31 दिसंबर तक कर लें आधार को पैन से लिंक

First published: 16 December 2019, 11:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी