Home » बिज़नेस » RBI warns Bank customers, Do Not use free and open wi fi network during banking services for safety purpose
 

मुफ्त वाईफाई का इस्तेमाल करने वाले हो जाएं सावधान, वरना खाली हो सकता है आपका बैंक अकाउंट

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2020, 13:10 IST

RBI warns Bank customers: अगर आप भी फ्री या पब्लिक वाईफाई (Free or Public Wifi) का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं, क्योंकि ऐसे करने से आपका बैंक अकाउंट (Bank Account) खाली हो सकता है. इसे लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंक ग्राहकों (Bank customers) को चेतावनी दी है. आरबीआई (RBI) ने कहा है कि डिजिटल लेनदेन (Digital Transaction) के सुरक्षित उपयोग के लिए ग्राहकों को सतर्क रहना चाहिए और खुले या मुफ्त वाईफाई-नेटवर्क के माध्यम से बैंकिंग या अन्य वित्तीय लेन-देन नहीं करना चाहिए. आरबीआई ने साफ कहा है कि मुफ्त वाई-फाई के चक्कर में बड़ी संख्या में ग्राहकों के खाते साफ हो रहे हैं. इस संबंध में विभिन्न बैंकों में 170 ग्राहकों ने शिकायतें भी दर्ज कराई हैं.

रिजर्व बैंक के चीफ जनरल मैनेजर योगेश दयाल के मुताबिक, डिजिटल लेनदेन की सुरक्षा को ग्राहकों को सर्वोच्च प्राथमिकता देना चाहिए. रिजर्व बैंक ने इस संबंध में अलर्ट करने के लिए 'आरबीआई कहता है' अभियान भी लांच किया है. ग्राहकों को लुभाने के लिए ओपन वाई-फाई में धोखेबाज नेटवर्क स्पीड का फायदा उठाते हैं. ऐसी जगहों को चिन्हित कर लुभावने ऑफर भेजते हैं. भारी भरकम डिस्काउंट के ऑफर फ्लैश करते हैं.


LAC पर चीन ने खोला नया फ्रंट, अब इस क्षेत्र में कर रहा है बॉर्डर क्रॉस, भारी संख्या में वाहन तैनात

आरबीआई के चीफ जनरल मैनेजर का कहना है कि हाल के दिनों में धोखेबाजों द्वारा केवाईसी आवश्यकताओं को पूरा करने आदि जैसे फर्जी बहाने से और बैंकों की वेबसाइटों की हूबहू नकल करके ठगने के मामलों में तेजी आई है. उनका कहना है कि ग्राहकों से कहा गया है कि मोबाइल, ई-मेल, इलेक्ट्रॉनिक वॉलेट या पर्स पर महत्वपूर्ण बैंकिंग डेटा न रखें. साथ ही गलती से भी किसी को ओटीपी, पिन या सीवीवी नंबर न बताएं.

कोरोना वायरसः दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा 4.84 लाख के पार, 95 लाख से ज्यादा संक्रमित

वहीं देश के सबसे बड़े बैंक, भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को साइबर हमलों के बारे में चेतावनी दी है. एसबीआई ने कहा है कि फ्री कोविड-19 टेस्टिंग के नाम पर अगर कोई ईमेल आए तो उस पर क्लिक न करें, वर्ना साइबर अटैक का शिकार हो सकते हैं. एसबीआई ने ग्राहकों से कहा है कि कोविड-19 के नाम पर फर्जी ई-मेल भेजकर लोगों से उनकी व्यक्तिगत और वित्तीय जानकारिया चोरी हो रही है. ये हैकर्स बैंक की डिटेल लेकर आपके अकाउंट को हैक कर रहे हैं. एसबीआई ने बताया है कि हैकर्स का संदिग्ध ईमेल आईडी [email protected] है. वहीं ईमेल की सब्जेक्ट लाइन फ्री कोविड-19 टेस्टिंग रखा है.

निजी क्षेत्र भी कर सकते हैं रॉकेट का निर्माण, दे सकते हैं प्रक्षेपण सेवाएं : ISRO प्रमुख

First published: 25 June 2020, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी