Home » बिज़नेस » RCom completes sale of fibre assets to Reliance Jio for Rs 3000 crore
 

अनिल और मुकेश अंबानी के बीच आखिरकार 3000 करोड़ का सौदा हो गया पूरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2018, 13:25 IST

रिलायंस कम्युनिकेशंस ने सोमवार को कहा कि उसने मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो इन्फोकॉम (आरजेआईओ) को अपनी फाइबर परिसंपत्तियों और संबंधित बुनियादी ढांचे की संपत्ति को 30 अरब रुपये में बेच दिया है. बीएसई फाइलिंग में रिलायंस कम्युनिकेशंस ने कहा, इस लेनदेन के सफल समापन के साथ 1,78,000 किलोमीटर फाइबर स्टैंड जियो में स्थानांतरित हो गया है. पिछले हफ्ते रिलायंस कम्युनिकेशंस ने अपने मीडिया कन्वर्जेन्स नोड्स (एमसीएन) और संबंधित आधारभूत संरचना को 20 अरब रुपये में रिलायंस जियो इन्फोकॉम को बेचा था.

इस महीने की शुरुआत में रिलायंस कम्युनिकेशंस ने टेलीकॉम ट्रिब्यूनल द्वारा निर्धारित समयरेखा से पहले दूरसंचार विभाग के साथ 7.74 अरब रुपये की बैंक गारंटी बहाल कर दी थी और कहा था कि 250 अरब रुपये की संपत्ति बिक्री योजनाएं ट्रैक पर हैं.

 

पिछले साल अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस ने रिलायंस जियो के साथ वायरलेस स्पेक्ट्रम, टावर, फाइबर और एमसीएन संपत्तियों की बिक्री के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. दिसम्बर 2017 में घोषित सौदा, 800/900/1800/2100 मेगाहट्र्ज बैंड में 4जी स्पेक्ट्रम के 122.4 मेगाहट्र्ज पैक के लिए किया गया था.

अनिल अंबानी अपने कर्ज को कम करने के लिए दिसंबर 2017 में अपने एसेट्स रिलायंस जियो को बेचने फैसला किया था. आरकॉम पर मार्च 2017 तक बैंकों का 45 हजार करोड़ रुपए का कर्ज था. एरिक्सन ने बीते सितंबर में 1,150 करोड़ रुपये के बकाया भुगतान के लिए कंपनी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया का आवेदन किया था. यही नहीं चीन की कम्पनी 'चाइना डिवेलपमेंट बैंक' (सीडीबी) ने आरकॉम के खिलाफ 24 नवंबर को लॉ ट्राइब्यूनल में बैंकरप्सी के लिए आवेदन किया था.

ये भी पढ़ें : Maruti Suzuki 2020 से पहले भारत में 20 नई हैचबैक, सेडान और एसयूवी लाएगी

First published: 27 August 2018, 13:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी